बैंक ऑफ इंडिया ने हेल्प द ब्लाइंड फाउंडेशन को 5 लाख रुपए

बैंक ऑफ इंडिया ने हेल्प द ब्लाइंड फाउंडेशन को 5 लाख रुपए

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Apr, 25 2019 12:34:15 AM (IST) | Updated: Apr, 25 2019 12:34:16 AM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

भारत में अग्रणी राष्ट्रीयकृत बैंकों में से एक बैंक ऑफ इंडिया ने बैंक की कॉर्पोरेट सामाजिक दायित्व (सीएसआर) गतिविधि के अंतर्गत च्हेल्प द ब्लाइंड...

चेन्नई।भारत में अग्रणी राष्ट्रीयकृत बैंकों में से एक बैंक ऑफ इंडिया ने बैंक की कॉर्पोरेट सामाजिक दायित्व (सीएसआर) गतिविधि के अंतर्गत च्हेल्प द ब्लाइंड फाउंडेशनज् (एचटीबीएफ ) को 5 लाख रुपए दिए। कार्यकारी निदेशक सीजी चैतन्या ने 5 लाख रुपए का चेक बुधवार को एच.टी.बी.एफ. के ट्रस्टियों को सौंपा।

इस अवसर पर महाप्रबंधक, एनबीजी (दक्षिण) राजकुमार मित्रा, महाप्रबंधक (प्र.का.) ए.के. साहू, महाप्रबंधक (प्र.का.) विश्वनाथ गुंटा और आंचलिक प्रबन्धक चेन्नई बीवीएस अचुताराव, बैंक के ऑफिसर्स एसोसिएशन के महासचिव अमरनाथ, बैंक के अवार्ड स्टाफ यूनियन के महासचिव पी. सी. श्रीधर और (बीओआई) एनबीजी साउथ की पूरी टीम एवं अन्य स्टाफ उपस्थित थे।

हेल्प द ब्लाइंड फाउंडेशनज् (एच.टी.बी.एफ.) ट्रस्ट नेत्रहीन बच्चों को उनकी क्षमता का एहसास करने और गर्व और स्वाभिमान के साथ अपने पैरों पर खड़े होने के लिए शक्ति प्रदान करता है ।
यह ट्रस्ट दृष्टिबाधित छात्रों के शिक्षा खर्चों को प्रायोजित करता है और उनके प्रशिक्षण कार्यक्रमों और कौशल विकास कार्यक्रमों की व्यवस्था करता है और उन्हें रोजगार प्राप्त करने और मुख्यधारा में लाने में मदद करता है।


आरबीएल बैंक ने भागीदारी का विस्तार किया

वायरकार्ड ने भारत के आरबीएल बैंक के साथ भागीदारी की है। इसका उद्देश्य वित्तीय समावेश को आगे बढ़ाना है। ग्राहकों को इससे अब लाभ होगा। वे नकद निकासी, बैलेंस इन्क्वायरी तथा जमा कर सकेंगे। इसमें वायरकार्ड का राष्ट्रव्यापी रिटेल एजेंट नेटवर्क का उपयोग किया जा सकेगा। नई सेवाएं भारत के आधार एनेबल्ड पेमेंट सर्विसेज का पावर्ड होगा। ग्राहक इससे प्वाइंट आफ सेल की पहचान कर सकेंगे। इससे वित्तीय समावेश को बढ़ावा मिलेगा। खासकर वे जो रिमोट इलाकों में रहते हैं। डिजिटल पेमेंट तथा बैंकिंग लेन देन अधिक उपलब्ध होगा। रिटेल एजेंट सशक्त होंगे। वे ग्राहक सेवा प्रतिनिधि के रूप में काम करेंगे और बैंकिंग सेवाएं मुहैया कराएंगे। वर्तमान में 5000 एजेंटों को इस कार्यक्रम से जोड़ा गया है। इससे डिजीटल वित्तीय सेवा सस्ती होगी। इस मौके पर वायरकार्ड के प्रबंध निदेशक अनिल कपूर ने भी विचार व्यक्त किए।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned