सच्चे दिल से इच्छा रखने वाले को ही होते हैं भगवान के दर्शन

महाशिवरात्रि पर्व पर भागवत कथा का आयोजन

By: Santosh Tiwari

Updated: 03 Mar 2019, 04:52 PM IST

चेन्नई. माली समाज भवन तिरुकलीकुण्ड्रम में महाशिवरात्रि पर्व पर आयोजित भागवत कथा में कथावाचक दीपक जोशी ने बताया कि सच्चे दिल से भगवत दर्शन करने की इच्छा रखने वाले भक्तों को भगवान दर्शन देते हैं। इसी प्रसंग में रुक्मिणी विवाह का वर्णन करते हुए कहा कि ने रुक्मिणी ने श्री कृष्ण से विवाह की इच्छा करते हुए प्रेम किया तो भगवान श्री कृष्ण ने रुक्मिणी के साथ विवाह करके इच्छा पूरी की।

जोशी ने कहा कि ऐसा ही प्रेम भगवान श्री कृष्ण के बचपन के मित्र सुदामा ने किया तो श्री कृष्ण ने द्वारकाधीश बनने पर भी प्रेम निभाया। ऐसा ही प्रेम मीराबाई, कर्मा बाई, कबीर , दादू, भक्त प्रह्लाद, ध्रुव ने परमात्मा से किया और सभी भक्तों का उद्धार भगवान ने किया। हरियाणा से आए महन्त ताजाराम महाराज ने बताया कि परमात्मा की प्राप्ति के लिए भजन, सुमिरन, सत्संग, परोपकार और पतित की सेवा ही साधन है। इसलिए निरन्तर सत्कर्म करते रहें। मनुष्य योनि में जन्म लेना तभी सफल होगा।

Santosh Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned