भरत चोरडिय़ा एफएडीए तमिलनाडु के चेयरमैन बने

खिंवराज मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड, चेन्नई के निदेशक भरत चोरडिय़ा को एफएडीए (फेडरेशन आफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन्स) तमिलनाडु का चेयरमैन नियुक्त किया गया

By: मुकेश शर्मा

Published: 14 Nov 2017, 04:54 AM IST

चेन्नई।खिंवराज मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड, चेन्नई के निदेशक भरत चोरडिय़ा को एफएडीए (फेडरेशन आफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन्स) तमिलनाडु का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। एफएडीए अध्यक्ष जॉन के. पॉल ने यह नियुक्ति की है। चोरडिय़ा एफएडीए को तमिलनाडु में सक्रिय करने में सहयोग करेंगे।

ग्रामीणों का जीना ***** किया मच्छरों ने

लोगों ने प्रशासन से की कूड़ेदान की मांग
डेंगू के बढ़ते खतरे से ग्रामीण परेशान

जहां एक तरफ सरकार मच्छरों से निजात पाने के लिए तमाम तरह के एहतियाती कदम उठाने में जुटी हैं वहीं दूसरी ओर कोविलपट्टी के निकट स्थित इलुपैयूरनी के लोगों की शिकायत है कि मच्छरों की भिनभिनाहट ने उनका जीना ***** कर दिया है। उन्होंने बुधवार को अधिकारियों से मुलाकात करके इस समस्या के समाधान के लिए कोई प्रभावी कदम उठाने को कहा था। सूत्रों ने बताया कि सेनबाग नगर एवं सीतामणि नगर के लोगों की मच्छरों की इस समस्या की मुख्य वजह पेट्टैकुलम तालाब है।

दरअसल यह जलस्रोत आज मच्छरों का प्रजनन केंद्र बन चुका है। ग्रामीणों का दावा है कि कचरा एवं सीवेज की गंदगी की वजह से इसका पानी बाहर नहीं निकल पा रहा है। तालाब का यह ठहरा हुआ पानी इस समय डेंगू मच्छरों के प्रजनन का मुख्य केंद्र बना हुआ है। जिला प्रशासन के डेंगू विरोधी अभियान की आलोचना करते हुए ग्रामीणों ने दावा किया कि सरकार मच्छरों का अभी तक कोई कारगर इलाज नहीं कर पाई है।

उन्होंने कहा कि मच्छरों के अलावा तालाब के गंदे पानी से आती बदबू ने भी लोगों को परेशान कर रखा है। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से कूड़ेदान की मांग करते हुए कहा कि कचरा फेंकने की समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण ही लोग अपना कचरा तालाब में डालते हैं।

यह कचरा ही मच्छरों के पैदा होने की मुख्य वजह है।ह्य ग्रामीणों ने दावा किया कि इस बारे में उन्होंने कई बार पंचायत एवं जिला प्रशासन को पत्र लिखा लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned