रिश्वत लेते सर्वेयर गिरपतार

रिश्वत लेते सर्वेयर गिरपतार

Arvind Mohan Sharma | Publish: May, 18 2018 01:16:09 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

परेशान किसान ने भ्रष्टाचार निरोधक विभाग से सं पर्क किया

सुल्तानपेट का एक किसान जमीन का नामांतरण खुलवाने के लिए सुलूर तहसील में आया था। लेकिन सर्वेयर उसका काम करने की बजाय चक्कर कटवा रहा था,उसने काम के लिए तीस हजार की रिश्वत मांगी

कोयम्बत्तूर. सुलूर तहसील कार्यालय के सर्वेयर कथिरसेन को भ्रष्टाचार निरोधक विभाग की टीम ने रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से घूस के 10 हजार रुपए बरामद कर लिए गए हैं। सूत्रों ने बताया कि सुल्तानपेट का एक किसान जमीन का नामांतरण खुलवाने के लिए सुलूर तहसील में आया था। लेकिन सर्वेयर उसका काम करने की बजाय चक्कर कटवा रहा। अंतत: उसने काम के लिए तीस हजार की रिश्वत मांगी लेकिन किसान ने कहा कि उसके पास सिर्फ 10हजार रुपएहैं।कथिरसेन ने 10 हजार रुपएले लिए लेकिन काम भी नहीं किया। वह किसान से 20 हजार रुपए और लाने के लिए अड़ा रहा। परेशान किसान ने भ्रष्टाचार निरोधक विभाग से सं पर्क किया। यहां किसान को रंग लगे नोट दिए व सर्वेयर के पास भेज दिया। जैसे ही उसने रिश्वत की राशि ली। विभाग की टीम ने सर्वेयर को दबोच लिया। हाथ धुलवाने पर रंग भी निकल आया। टीम ने आवश्यक कार्रवाई कर सर्वेयर को गिरफ्तार कर लिया। उसके आवास की तलाशी ली जा रही है।

 


डी साईं बाबा पालक्काड के एडीआरएम
कोयम्बत्तूर. डी. साईं बाबा ने पालक्काड में अतिरिक्त मंडल रेल प्रबंधक (एडीआरएम)का कार्यभार संभाल लिया है। साईं बाबा भारतीय रेल सेवा की मैकेनिकल इंजीनियरिंग के 1881 बैच के अधिकारी हैं।इससे पहले वे केन्द्र सरकार के सां ख्ियकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय में निदेशक के रूप में प्रतिनियुक्ति पर थे। 25 वर्ष की अब तक की सेवा में वे भारतीय रेलवे में परियोजना और कार्यान्वयन, सूचना प्रबंधन प्रणाली, लोक नीति, प्रेरक शक्ति और रोलिंग स्टॉक विभागों में महत्वपूर्ण पदों पर सेवाएं दे चुके हैं। मोज़ा िबक में विश्व बैंक सहायता प्राप्त रेलवे पुनर्वास परियोजना की टीम के सदस्य भी रहे हैं।

Ad Block is Banned