Tamilnadu: राजस्थान के एनसीसी कैडेट्स वाद-विवाद में अव्वल , समूह चर्चा में मिला दूसरा स्थान

राजस्थान (Rajasthan) के एनसीसी (Ncc) निदेशालय के विभिन्न जिलों से सिरोही महाविद्यालय के प्रोफेसर कैप्टन भगवानाराम विश्नोई (Vishnoi) के निर्देशन में 16 कैडेट्स ने हिस्सा लिया।

By: Ashok Rajpurohit

Updated: 18 Dec 2019, 05:47 PM IST

चेन्नई. कोयम्बत्तूर के हिन्दुस्तान कॉलेज में एडवांस लीडरशिप कैंप का आयोजन किया गया जिसमें देशभर से करीब तीन सौ से अधिक कैडेट्स शामिल हुए। इसमें राजस्थान के एनसीसी निदेशालय के विभिन्न जिलों से सिरोही महाविद्यालय के प्रोफेसर कैप्टन भगवानाराम विश्नोई के निर्देशन में 16 कैडेट्स ने हिस्सा लिया। इस कैम्प में आयोजित वाद-विवाद प्रतियोगिता में राजस्थान के कैडेट्स ने प्रथम तथा समूह चर्चा में दूसरा स्थान हासिल किया। वहां से चेन्नई आने पर इन कैडेट्स ने प्रवासियों से अपने अनुभव साझा किए।

एडवांस लीडरशीप कैंप
प्रोफेसर कैप्टन भगवानाराम विश्नोई ने बताया कि एडवांस लीडरशीप कैंप खासा महत्वपूर्ण होता है। इसके अलावा भी एनसीसी की ओर से समय-समय पर रिपब्लिक डे कैंप (आरडीसी), नेशनल इंटीग्रेशन कैंप (एनआईसी), यूथ एक्सचेंज प्रोग्राम, बेसिक लीडरशीप कैंप (बीएलसी), आर्मी अटैचमेन्ट कैंप (एएमसी), कंबाइंड एन्युअल ट्रेैनिंग कैंप (सीएटीसी) समेत अन्य कैंप लगाए जाते हैं। विश्नोई ने बताया कि एनसीसी को और अधिक सशक्त बनाने की बात कही गई है।

प्रवासियों के साथ अनुभव बांटे
विश्नोई ने बताया कि एनसीसी का उद्देश्य युवाओं में चरित्र, मिल-जुलकर काम करने की क्षमता का विकास करना है। युवाओं में नेतृत्व की भावना एवं सेवा की भावना भी एनसीसी विकसित करती है। यह युवाओं को सैन्य प्रशिक्षण देती है। उन्होंने भी प्रवासियों के साथ अनुभव बांटे। एनसीसी का उद्देश्य युवाओं में चरित्र, मिल-जुलकर काम करने की क्षमता का विकास करना है। युवाओं में नेतृत्व की भावना एवं सेवा की भावना भी एनसीसी विकसित करती है। यह युवाओं को सैन्य प्रशिक्षण प्रदान करती है।
विश्नोई के साथ ही एनसीसी कैडेट्स चेन्नई में प्रवासियों से रूबरू हुए। इस दौरान एनसीसी कैडेट्स ने शिविर में सीखे गए अनुभव प्रवासियों के साथ शेयर किए।

Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned