राष्ट्रगान का अपमान, 2 महिलाओं समेत तीन को पीटा

राष्ट्रगान का अपमान, 2 महिलाओं समेत तीन को पीटा
national anthem

चेन्नई इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की घटना

चेन्नई.
यहां चेन्नई इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के दौरान वडपलनी स्थित मल्टीप्लेक्स सिनेमा थिएटर में राष्ट्रगान बजने के दौरान खड़े नहीं होने पर मां-बेटी सहित तीन लोगों को पीट दिया गया। पुलिस ने इन तीनों पर राष्ट्रगान के अपमान का मुकदमा दर्ज किया है। तमिलनाडु में यह पहला मामला है जब राष्ट्रगान के अपमान का मुकदमा दर्ज हुआ है।

तमिलनाडु में पहला मामला 
उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार सिनेमा थिएटर में फिल्म शुरू होते वक्त राष्ट्रगान बजाया जाएगा। वडपलनी के पलाजो थिएटर में अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव के तहत अंग्रेजी मूवी का शो शुरू होने वाला था। उस वक्त राष्ट्रगान बजा। लेकिन विरुगम्बाक्कम के सांई बाबा कॉलोनी निवासी शुभश्री (53) और उसकी बेटी शीला (28) दोनों खड़े नहीं हुए। इनके अलावा बगल में बैठा एक युवक जॉन (21) भी खड़ा नही हुआ। जॉन कोट्टायम का रहने वाला है। बताया गया है कि शुभश्री  सीपीआई (एमएल) संगठन से जुड़ी है।
 
उसके बाद आयोजकों  और दर्शकों ने तीनों को राष्ट्रगान के दौरान खड़ा नहीं होने पर बाहर खदेड़ा। कुछ ही देर में उनमें बहस हो गई और दर्शकों ने तीनों को पीट दिया। दर्शकों ने आयोजकों को पुलिस बुलाने और नियमों का उल्लंघन करने का मामला दर्ज कराने को कहा। फिर पुलिस आई और इनको गिरफ्तार किया गया। हालांकि इन आरोपियों को जमानत पर छोड़ दिया है।
पिटाई का पहला मामला नहीं
चेन्नई के सिनेमाघर में राष्ट्रगान के दौरान खड़े नहीं होने पर पिटाई का यह मामला पहला नहीं है लेकिन इस मामले में पुलिस हिरासत में लेना और उनके खिलाफ दो धाराओं में मामला दर्ज करना पहला मामला है। इससे पहले 11 दिसम्बर 2016 के दिन काशी थिएटर में सात लोगों को राष्ट्रगान के अपमान पर पीटा गया था। 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned