निर्मला देवी ऑडियो टेप कांड मामले में सीबी-सीआईडी ने दायर की अंतिम चार्जशीट

निर्मला देवी ऑडियो टेप कांड मामले में सीबी-सीआईडी ने दायर की अंतिम चार्जशीट

P S Kumar Vijayaraghwan | Publish: Sep, 07 2018 08:41:00 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

200 पृष्ठों वाली पूरक चार्जशीट में कोई नया गवाह नहीं जोड़ा गया है

चेन्नई. क्राइम ब्रांच सीआईडी (सीबी-सीआईडी) ने शुक्रवार को अरुप्पुकोट्टै कॉलेज की सहायक प्रोफेसर निर्मला देवी ऑडियो टेप कांड जिसमें छात्राओं को अनैतिक कार्य करने के लिए प्रलोभन दिया जा रहा था मामले में पूरक और अंतिम चार्जशीट दायर कर दी है। सीबी-सीआईडी की एसपी एस. राजेश्वरी की ओर से सहायक जांच अधिकारी डीएसपी पी. करुप्पैया ने न्यायिक दण्डाधिकारी की कोर्ट क्रम द्वितीय में २०० पृष्ठों वाली पूरक चार्जशीट दायर की।

सूत्रों के अनुसार इसमें कोई नया गवाह नहीं जोड़ा गया है। प्रकरण की मुख्य अभियुक्त देवंगा आटर््स कॉलेज की सहायक प्रोफेसर निर्मला देवी, एमकेयू के सहायक प्रोफेसर वी. मुरुगन और शोधार्थी एस. करुप्पुसामी है।

मद्रास उच्च न्यायालय की मदुरै खण्डपीठ के निर्देश के अनुसार सीबी-सीआईडी को १० सितम्बर तक अंतिम चालान दायर करना था। सूत्रों के अनुसार अंतिम चार्जशीट में फॉरेंसिक विशेषज्ञों की गवाही, निर्मला देवी के आवाज के नमूने की तुलनात्मक रिपोर्ट आदि संलग्न है।
जांच एजेंसी ने निर्मला देवी पर आरोप लगाया है कि उसने कॉलेज की चार छात्राओं को एमकेयू के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अनैतिक संबंध बनाने का प्रलोभन दिया था कि उनको अधिक अंक और रुपए मिलेंगे। गत जुलाई में जांच एजेंसी ने ११६५ पृष्ठों का प्रारंभिक आरोपपत्र पेश किया था। ट्रायल कोर्ट को बताया गया था कि अंतिम रिपोर्ट बाद में दायर होगी।

 

...................................................................

412 नीट प्रशिक्षण केंद्रों का संचालन शुरू, स्कूली शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

चेन्नई. स्कूली शिक्षा मंत्री केए सेंगोट्टयन ने कहा कि राज्यभर में शुक्रवार से ४१२ नीट प्रशिक्षण केंद्रों का संचालन शुरू किया गया। तिरुनेलवेली में पत्रकारों से वार्ता में उन्होंने कहा केंद्रों में वीडियो कॉन्फें्रसिंग की सुविधा के तहत ३२०० शिक्षकों द्वारा ४१२ केंद्रों के जरिए विद्यार्थियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों से विद्यार्थियों को नीट जैसी परीक्षा के लिए तैयार कर कम से कम १ हजार विद्यार्थियों को डॉक्टर बनाना सरकार का लक्ष्य है। उन्होंने एक बार फिर से दोहराते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा लगातार नीट का विरोध किया जाएगा और तमिलनाडु के विद्यार्थियों को इससे छूट दिलाने का प्रयास जारी रहेगा। उल्लेखनीय है कि सेंगोट्टयन ने पहले ही निजी स्कूलों को चेतावनी देते हुए कहा था कि नीट कोचिंग देने के नाम पर विद्यार्थियों से पैसे लेने वाले स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

 

Ad Block is Banned