वरदान साबित होने लगे सीसीटीवी कैमरे

CCTV कैमरा लगाने के बाद महानगर में पिछले साल आपराधिक मामले ५० फीसदी कम हुए। कावलन एसओएस ऐप (Kavalan SOS App) काफी मददगार साबित हो रहा है। अबतक इस ऐप को दस लाख लोगों ने अपने मोबाइल में डाउनलोड किया है

By: MAGAN DARMOLA

Published: 03 Jan 2020, 06:47 PM IST

चेन्नई. महानगर पुलिस आयुक्त एके विश्वनाथन ने बुधवार को कहा कि महानगर में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे अब वरदान साबित होने लगा है। खासकर, आपराधिक मामलों से निपटने में। सीसीटीवी कैमरा लगाने के बाद महानगर में पिछले साल आपराधिक मामले ५० फीसदी कम हुए हैं। साथ ही अपराधियों को पकडऩे में ये बेहद मददगार साबित हो रहे हैं। इससे कई आपराधिक मामले सुलझाने में मदद मिली है।

विश्वनाथन ने बताया कि वर्ष २०१७ में चेन स्नैचिंग के ६१५ मामले दर्ज हुए थे जबकि वर्ष २०१८ में ४४३ और वर्ष २०१९ में ३०७ मामले दर्ज हुए। आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले दो सालों में लगातार आपराधिक मामलों में कमी आई है। इसकी वजह है चुस्त गश्ती टीम और सीसीटीवी कैमरे से निगरानी। उन्होंने बताया कि लूट के इरादे से हुई हत्या के मामले भी ५० फीसदी कम हुए हंै। हालांकि उन्होंने लूट के इरादे से हुई हत्याओं के आंकड़े पेश नहीं किए लेकिन दावा किया कि पिछले दो सालों की तुलना में ऐसे मामलों में कमी आई है। राजस्थान, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश और हरिद्वार के गिरोह को भी सीसीटीवी कैमरे की मदद से पकडऩे में कामयाबी मिली है। वर्ष २०१८ में १२९७ घातक सड़क दुर्घटनाएं दर्ज हुई जबकि २०१९ में १२५२ ही दुर्घटनाएं हुई। वहीं २०१८ में चेन्नई में ७६२० और २०१९ में ६६८८ सड़क दुर्घटनाए दर्ज हुई।

बच्चों व महिलाओं की सुरक्षा को प्राथमिकता

पुलिस आयुक्त ने कहा कि बच्चों और महिलाओं की सुरक्षा पहली प्राथमिकता है। इसके लिए अतिरिक्त अम्मा पेट्रोल व्हीकल की शुरुआत की गई जो शिकायत मिलते ही त्वरित मौके पर पहुंचकर कार्रवाई करती है। ४५ अम्मा पेट्रोल व्हीकल की मदद से महानगर के अलग अलग इलाकों में बच्चों और महिलाओं की सुरक्षा की जा रही है।

कावलन ऐप के दस लाख डाउनलोड

विश्वनाथन ने बताया कि ऐप की मदद से पुलिस को शिकायत देने वाले कावलन एसओएस ऐप काफी मददगार साबित हो रहा है। अबतक इस ऐप को दस लाख लोगों ने अपने मोबाइल में डाउनलोड किया है। हालांकि यह ऐप पिछले साल लांच किया गया था लेकिन जागरूकता के अभाव में डाउनलोड कम हुए थे लेकिन पिछले कुछ दिनों से लगातार कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थानों में ऐप के प्रति जागरूक करने के बाद लोगों ने डाउनलोड करना शुरू कर दिया है। पिछले दो महीने में डाउनलोडिंग की संख्या दस लाख पहुंच गई जबकि इससे पहले यह चार लाख थी।

निर्भया योजना के तहत लगेंगे कैमरे

पुलिस ने महानगर के अलग अलग इलाकों में करीब ६५०० सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। इनकी मदद से निगरानी की जा रही है। विश्वनाथन ने बताया कि निर्भया फंड की मदद से चेन्नई में अतिरिक्त २००० सीसीटीवी कैमरे और लगेंगे। इन कैमरों को महत्वपूर्ण जगहों पर लगाया जाएगा। चेन्नई में सीसीटीवी कैमरों के जरिए यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालाकों के खिलाफ ई-चालान काटा गया है। आपराधिक मामलों की जांच में सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की सहायता ली गई। वहीं पिछले साल पॉक्सो एक्ट के २५ मामले दर्ज हुए थे जिनमें से ४ मामलों में दोषियों को आजीवन कारावास की सजा मिल चुकी है जबकि २१ मामलों में दोषियों को १० साल की सजा हुई है।

MAGAN DARMOLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned