जीवन में मनाएं माय डे

जीवन में मनाएं माय डे

Ritesh Ranjan | Publish: Apr, 02 2019 04:57:14 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

श्री जैन आराधना भवन के प्रांगण में आचार्य तीर्थभद्रसूरीश्वर के सान्निध्य में रजत जयंती वर्ष के अंतर्गत कलापूर्ण जैन आराधक मंडल, चेन्नई द्वारा आयोजित 300 तपस्वियों के विराट सामूहिक वर्षीतप पारणा अष्टान्हिका महामहोत्सव विजयोत्सव की पत्रिका आलेखन का शुभारम्भ हुआ।

चेन्नई. श्री जैन आराधना भवन के प्रांगण में आचार्य तीर्थभद्रसूरीश्वर के सान्निध्य में रजत जयंती वर्ष के अंतर्गत कलापूर्ण जैन आराधक मंडल, चेन्नई द्वारा आयोजित 300 तपस्वियों के विराट सामूहिक वर्षीतप पारणा अष्टान्हिका महामहोत्सव विजयोत्सव की पत्रिका आलेखन का शुभारम्भ हुआ। जैन महासंघ, केशरवाड़ी ट्रस्ट, चन्द्रप्रभु नया मंदिर ट्रस्ट, चन्द्रप्रभु जूना मंदिर ट्रस्ट, तमिलनाडु महामण्डल के अतिथि इस अवसर पर उपस्थित थे। सोलंकी परिवार द्वारा पत्रिका का विमोचन किया गया। मंडल अध्यक्ष दिनेश चोपड़ा ने सभी का स्वागत किया एवं सचिव विकास राठोड़ ने आभार प्रगट किया। आचार्य ने प्रवचन में कहा कि बाहर की दुनिया से विमुख बनकर भीतर की दुनिया में मशगूल होना ही वर्षीतप है। प्रत्येक व्यक्ति अनेक दिवस मनाता है, जीवन में कभी माई डे भी मनाये। जिस दिन हम वक्त निकालकर स्वयं की आत्मा के गुणों को पहचानने का प्रयास कर सके। नया मंदिर के सचिव किरीट जैन, केशरवाड़ी अध्यक्ष बाबूलाल मेहता, सचिव शांतिलालजी खांटेड ने मंडल को शुभकामना दी। विराट अष्टान्हिका महामहोत्सव 1 मई से प्रारम्भ होकर 8 मई को संपन्न होगा । महोत्सव में गुरु प्रवेशोत्सव, शत्रुंजय 16 उद्धार महापूजा, अष्टोतरी अभिषेक, विराट तपस्वी शोभायात्रा, संघ नवकारशी, भव्यातिभव्य अभिनन्दन समारोह, चैत्य महापूजा, तप उद्यापन कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। सभी तपस्वियों का पारणा 7 मई को विशाल पैमाने पर केशरवाड़ी तीर्थ में होगा ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned