- पहले एआईएडीएमके फिर डीएमके ने छोड़े पटाखे
चेन्नई. आम चुनाव में करारी शिकस्त के बाद वेलूर लोकसभा चुनाव सत्तारूढ़़ एआईएडीएमके के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया था। हालांकि वह प्रतिष्ठा की यह जंग हार गई लेकिन आम चुनाव में जो उसकी दुर्गति हुई थी उस लिहाज से प्रदर्शन बेहतर रहा।
एआईएडीएमके के चुनाव चिन्ह पर मैदान में उतरे ए. सी. षणमुगम ने डीएमके पर शुरुआती बढ़त बनाई। यह बढ़त हर चरण की काउंटिंग के साथ बढ़ती जा रही थी। यह देख पार्टी कार्यकर्ताओं की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

रायपेट्टा स्थित पार्टी मुख्यालय में कार्यकर्ता जुटे और पटाखे छोडक़र खुशी मनाने लगे। मिठाइयां भी बंटी लेकिन उनकी खुशी एक घंटे बाद उस समयकाफूर हो गई जब पार्टी प्रत्याशी ने पिछडऩा शुरू किया। बाद में मुख्यालय में सन्नाटा पसर गया जबकि डीएमके मुख्यालय अण्णा अरिवालयम रोशन हो गया।
कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हुई। डाकमतों की गिनती के अलावा मतगणना के तहत 21 राउंड में वोट गिने जाने थे। पहले राउंड में षणमुगम ने सैकड़ों में बढ़त बनाई। चौथे चरण की गिनती में वे 10 हजार 717 वोटों से आगे थे। वे छठे राउंड की गिनती तक आगे ही रहे, लेकिन उसके बाद कदीर आनंद की किस्मत पलटी और उन्होंने बढ़त बनानी शुरू की जो अंत तक जारी रही। यह बात और है कि वे बड़े अंतर से जीत दर्ज नहीं कर पाए।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned