बदल रहा बिजनेस का ट्रेंड, राजस्थान के नजदीक कारोबार को तरजीह

राजस्थान के लोगों का पहले दक्षिणी प्रदेशों में रुचि थी जो अब कम हो रही है। अब राजस्थान व आसपास के प्रदेश भी रोजगार की दृष्टि से काफी संभावनाओं व अवसर वाले साबित हो रहे हैं।

By: Ashok Rajpurohit

Updated: 22 Jun 2020, 08:23 PM IST

चेन्नई. बिजनेस के तौर-तरीकों में अब बदलाव शुरू हो चुका है। राजस्थान के व्यापारी पहले दक्षिण भारत में व्यापार को वरीयता देते थे लेकिन बदले हालात में अब राजस्थान के आसपास के प्रदेशों में कारोबार को तरजीह देने लगे हैं।तमिलनाडु के कई व्यापारियों ने गुजरात में उत्पादन इकाइयां लगा ली है। उनका मानना है कि गुजरात में कारोबार अन्य प्रदेशों के लिहाज से काफी सुरक्षित है। सरकारी अड़चनें भी अपेक्षाकृत कम हैं। राजस्थान के लोगों का पहले दक्षिणी प्रदेशों में रुचि थी जो अब कम हो रही है। अब राजस्थान व आसपास के प्रदेश भी रोजगार की दृष्टि से काफी संभावनाओं व अवसर वाले साबित हो रहे हैं।
पहले दक्षिणी राज्यों को देते थे प्राथमिकता
पहले राजस्थान के लोग का रुख तमिलनाडु, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, केरल, पुदुचेरी की तरफ अधिक था लेकिन पिछले कुछ समय से उनकी मानसिकता बदली है। राजस्थान के नजदीक होने से वे किसी धार्मिक-सामाजिक आयोजन में शामिल हो सकेंगे और कभी भी आसानी से गृह क्षेत्र जा सकते हैं। दूसरे गुजरात व कुछ अन्य प्रदेशों में कारोबार के अवसर काफी बढ़े हैं। इस बारे में कुछ लोगों का कहना है :
...................................................


सौ लोगों को मिल रहा रोजगार
उद्योग व बिजनेस के लिहाज से गुजरात काफी तरक्की कर रहा है। इसलिए मैंने गुजरात के अहमदाबाद में स्टील उद्योग लगाया है जिससे करीब सौ लोगों को रोजगार भी मिला है। इसमें बनने वाले स्टील के पाटों की दक्षिण में खूब डिमांड है। अकेले तमिलनाडु में प्रति माह करीब पांच हजार टन स्टील के पाटों की डिमांड है। अहमदाबाद स्टील का हब बन रहा है।
- दुर्गाराम गोदारा, स्टील कारोबारी, चेन्नई प्रवासी
...................................................


गुजरात में कर रहे कारोबार विस्तार
मेरा चेन्नई में कपड़े का व्यवसाय है। कुछ समय पहले अहमदाबाद में कपड़ा उत्पादान इकाई लगाई है। उसमें तैयार कपड़े तमिलनाडु एवं केरल सप्लाई होते हैं। अहमदाबाद कपड़े खासकर कॉटन का हब बनता जा रहा है। राजस्थान मूल के लोग अहमदाबाद, सूरत में कारोबार का विस्तार अधिक कर रहे हैं। इसका प्रमुख कारण गुजरात में बाजार का मिलना है। राजस्थान के नजदीक व्यापार होने से हर सामाजिक, धार्मिक गतिविधि में शामिल हो सकते हैं।
- रमेश राजपुरोहित मादा, कपड़ा कारोबारी, चेन्नई प्रवासी
...............................................

Show More
Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned