चेन्नई में 94 वर्षीय बुजुर्ग महिला के हौसले के आगे कोरोना पस्त

- बुलंद हौसले की जीत

-71 साल की बेटी ने कोरोना को दी मात

By: PURUSHOTTAM REDDY

Updated: 26 Aug 2020, 09:25 PM IST

चेन्नई.

देश में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में शामिल चेन्नई में 94 साल की महिला ने इस महामारी के खिलाफ संघर्ष की नजीर पेश की है। 94 साल की वृद्ध महिला ने अपने हौसले से कोरोना वायरस महामारी को हरा दिया है। यहीं नहीं उनकी 71 साल की बेटी ने भी कोराना वायरस को पटखनी दी है।

जब इन दोनों महिलाओं को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा रहा था तब डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ के साथ-साथ वहां भर्ती मरीजों ने भी सम्मान में तालियां बजाकर उन्हें विदा किया और उनके हौंसले की तारीफ की। उम्र के इस पड़ाव पर कोरोना वायरस संक्रमण से जंग जीतकर सकुशल वापस घर लौटने पर हर कोई उनके हौसले को सलाम कर रहा है। हालांकि सरकारी गाइडलाइन के अनुसार उन्हें सात दिन के होम आइसोलेशन में रहने को कहा गया है।

दरअसल, चेन्नई में 94 वर्ष की एक महिला कोरोना से संक्रमित हो गई थी। इस दौरान उनकी बेटी की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। बेटी की भी उम्र करीब 71 साल थी। दोनों को अरुमबाक्कम स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों की कड़ी मेहनत के बाद बुजुर्ग मां-बेटी ने कोरोना से जंग जीत ली है।

बुधवार को पूरी तरह से ठीक होने के बाद दोनों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। इस दौरान डॉक्टर खुद उन्हें बाहर तक छोडऩे आए। जानकारी देते हुए डॉ. कण्णन ने बताया कि बुजुर्ग महिला को सांस में लेने में दिक्कत हो रही थी। इसके अलावा बुखार और खांसी के चलते इन्हें पांच दिन पहले एडमिट किया गया था। इस दौरान इनकी डायबिटीज बढ़ गई थी। ऑक्सीजन थेरेपी और सही समय पर इलाज मिलने से ये जल्दी ठीक हो गई।

इससे पहले तमिलनाडु के करूर जिले में सबसे उम्रदराज 95 वर्षीय बुजुर्ग महिला उपचार के बाद इस महामारी से उबर चुकी हैं।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned