CHENNAI LOCK DOWN अकारण घूम रहे लोग

पुलिस की सख्ती से दिखेगी भक्ति
21 दिन का लॉक डाउन


चेन्नई. लॉक डाउन को लेकर जनता की गंभीरता नहीं दिखना चिंताजनक है। कुछ लोग जरूरत की चीजें खरीदने निकले वो तो ठीक था लेकिन बड़ी संख्या में लोग दुपहिया वाहन लेकर नफरी करते नजर आए। लॉक डाउन के पहले दिन का परिणाम तो यही कहता है कि बिना पुलिस की सख्ती से लोगों के दिलों में लॉक डाउन को लेकर भक्ति नहीं जागेगी।


इस बारे में मडिपाक्कम निवासी वेणाराम सीरवी का कहना था कि प्रतिदिन की तरह न तो सडक़ों पर वाहनों की चिल्लपों है और न ही बाजार में दुकानों पर लगी ग्राहकों की भीड़। न स्कूली ब‘चों का आवागमन और न ही बस स्टॉप पर बस के इंतजार में लगी लोगों की भीड़। ऐसे में घर से बाहर निकल कर क्या देखें। सही भी है बीमारी के पंजे में फंसने से तो अ‘छा है अपने घर में ही बैठकर परिवार के साथ समय गुजारना। यदि जिंदा रहेंगे तो पैसा तो बाद भी कमा लेंगे। यदि कुछ हो गया तो पैसा किस काम आएगा।


इसी प्रकार पल्लीकरणै राजकुमार का कहना था सरकार का लॉकडाउन का फैसला देश की जनता को परेशान करना नहीं बल्कि उसे कोरोना वायरस से बचाना है। लोग अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा को भूलकर घूमने या इधर-उधर चक्कर या फिर अपने किसी मित्र से मिलना ’यादा सही मानते हैं भले वे कोरोना की चपेट में आ जाएं। इसी सोच के चलते तो इटली में कोरोना वायरस का काफी प्रसार हो गया जिससे अब तक हजारों लोगों को अपना ग्रास बना चुका है। इसलिए लोगों को सारे काम छोड़ अपने घर में रहना चाहिए।

इस बारे में बी. मोहन का कहना था कि लोग अभी तो सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों को हल्के में ले रहे हैं, जब कोरोना वायरस की चपेट में आ जाएंगे तो फिर उससे निपटना मुश्किल हो जाएगा। अगर इसी तरह लोगों का घर से बाहर निकलना बंद नहीं होता तो पंजाब एवं चंडीगढ़ की तरह देशभर में कफ्र्यू लगाकर सेना का पहना लागू कर देना चाहिए। स्वत: ही लोग 21 दिन तक घर में बंद हो जाएंगे।


पत्रिका की टीम ने विभिन्न जगहों की पड़ताल की। कमोबेस पुलिसकर्मी लोगों से विनम्र अपील करते नजर आए कि आप घर लौट जाएं। लॉक डाउन आपके हित में है। कुछ जगह उनको फटकार भी लगानी पड़ी। पुलिस आयुक्त एके विश्वनाथन ने कड़ी हिदायत जारी कर दी है कि जबरन और अकारण निषेधाज्ञा का उल्लंघन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

P S Kumar Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned