22 फीट पानी पहुंचने के बाद चेम्बरबाक्कम झील से छोड़ा गया पानी

लोक निर्माण विभाग (पीडबल्यूडी) ने बुधवार दोपहर को चेम्बरबाक्कम जलाशय से एक हजार क्यूसेक पानी छोडऩे की प्रक्रिया शुरू की

By: Vishal Kesharwani

Updated: 25 Nov 2020, 05:28 PM IST


चेन्नई. लोक निर्माण विभाग (पीडबल्यूडी) ने बुधवार दोपहर को चेम्बरबाक्कम जलाशय से एक हजार क्यूसेक पानी छोडऩे की प्रक्रिया शुरू की, क्योंकि मंगलवार रात से चेन्नई समेत अन्य इलाकों में निवार चक्रवात की वजह से लगातार तेज बारिश हो रही है। जिससे जलाशय का स्तर काफी तेजी से बढ़ रहा है। पांच साल के अंतराल के बाद पहली बार ऐहतियात के तौर पर जलाशत का शटर खोला गया है। दोपहर में जलाशय का जलस्तर 22 फीट तक पहुंच गया था। राज्य सरकार ने पीडबल्यूडी को 22 फीट जलस्तर पहुंचने के बाद जलाशय से पानी छोडऩे का आदेश दिया था। जलाशय की पूर्ण क्षमता 24 फीट है।

 

ग्रेटर चेन्नई कार्पोरेशन ने सहायक इंजीनियर और सहायक कार्यकारी इंजीनियर को अडयार नदी के आसपास के बस्ती में निगरानी के लिए भेजा है। चेम्बरबाक्कम से छोड़ा जा रहा पानी अडयार में जाएगा। अधिकारियों ने अडयार की जनता को नहीं डरने की हिदायत दी है, क्योंकि पानी का स्तर काफी सामान्य ही रहेगा। आलंदूर और वलसरवाक्कम जोन में निगरानी रखी जा रही है। स्थिति को गंभीरता से लेते हुए सइदापेट से करीब 150 लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया।

 

कोत्तुरपुरम के बस्ती से भी 30 लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाया गया। 77 से अधिक राहत शिविर स्थापित किए गए हैं और 3 हजार से अधिक लोगों को इन केंद्रों में पहुंचाया गया है। कांचीपुरम जिला प्रशासन ने वाझुतलामेडु गांव से 125 परिवारों को निकाल कर पंचायत प्राइमरी स्कूल पहुंचाया है। चेम्बरबाक्कम से पानी छोडऩे से पहले चेंगलपेट जिला प्रशासन ने पोझीचल्लुर, काउल बाजार, तिरुनामलइ और मुदिचुर क्षेत्रों के निवासियों को सतर्क रहने को कहा है।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned