6 घंटे की महामुलाकात में तय होंगे चीन के साथ रिश्ते

6 घंटे की महामुलाकात में तय होंगे चीन के साथ रिश्ते
chinese-president-xi-jinping-and-prime-minister-narendra-modi-meeting

P.S.Vijayaraghavan | Updated: 11 Oct 2019, 03:54:35 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पीएम नरेंद्र मोदी कुल 6 घंटे एक साथ रहेंगे। इसमें वन टू वन बैठक करीब 40 मिनट के लिए होगी। जिसके बाद दोनों देशों की ओर से एक प्रेस स्टेटमेंट जारी होगी। chinese-president-xi-jinping-and-prime-minister-narendra-modi-meeting Live Updates

चेन्नई.
दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता के लिए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग शुक्रवार दोपहर चेन्नई पहुंचे। तमिलनाडु ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वे छह घंटे बिताने वाले हैं जो दोनों राष्ट्रों के बीच कूटनीतिक सांस्कृतिक और आर्थिक रिश्तों को मजबूत करेंगे।


आधिकारिक सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री और जिनपिंग दो दिनी शिखर वार्ता के दौरान करीब छह घंटे साथ बिताएंगे। इस अवधि में भारत और चीन की सरहदों, द्विपक्षीय व्यवहार, कश्मीर का मसला तथा व्यापारिक भुगतान असंतुलन पर चर्चा होगी।

दोनों नेताओं की इस महत्वपूर्ण महत्वपूर्ण बैठक पर सम्पूर्ण विश्व की निगाह है, खासकर पाकिस्तान की जो कश्मीर मसले पर चीन से समर्थन चाहता है। भारत पहले ही यह स्पष्ट कर चुका है कि चीन का मसला उसका आंतरिक मामला है इस वजह से किसी भी बाहरी दखल को वह स्वीकार नहीं करेगा।

तिब्बती मूल के छह लोग हिरासत में
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के आगमन से कुछ घंटे पहले तिब्बत के मसले पर विरोध दर्ज कराने की कोशिश कर रहे 6 तिब्बती मूल के लोगों को हिरासत में ले लिया गया। इससे पहले 8 तिब्बती छात्रों को कुछ दिन पहले गिरफ्तार किया गया था। इस घटना के करीब दो घंटे बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह सवा ग्यारह बजे चेन्नई एयरपोर्ट पर उतरे।

राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और मुख्यमंत्री ईके पलनीस्वामी ने उनकी अगवानी की। वहां से हेलीकॉप्टर में मोदी ने कोवलम के लिए उड़ान भरी।


इसके बाद दोपहर सवा दो बजे चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग एयर चाइना के विमान से उतरे। गाजे बाजे व और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ उनका परंपरागत अंदाज में स्वागत किया गया।

प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी कोवलम में अगवानी करने के बाद महाबलीपुरम के शोर टैंपल, अर्जुन तपस्या स्थल, पंचरथ और बटर बॉल रॉक का दीदार कराते हुए इनकी महत्ता और विशेषता को समझाया।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned