इस सदी में फिर से आर्थिक शक्तियां बनेंगे : मोदी

चेन्नई समिट से दोनों देशों के बीच सहयोग का नया दौर होगा शुरू, समिट में स्वागत टिपण्णी China's president Xi Jinping Chinese President Xi Jinping mahabalipuram shore temple mahabalipuram varaha cave temple modi Narendra Modi PM Modi Xi Jinping PM Narendra Modi PM Narendra Modi to meet Xi jinping Prime Minister Narendra ModiXi Jinping

 

By: P S Kumar

Updated: 12 Oct 2019, 06:51 PM IST

चेन्नई.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा पिछले दो हजार सालों के अधिकांश काल खंड में भारत और चीन दुनिया की प्रमुख शक्तियां रही हैं। अब इस शताब्दी में हम फिर से साथ-साथ उस स्थिति को प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करते हुए तमिल में वणक्कम कहा और आतिथ्य हासिल होने पर प्रसन्नता जताई।


मोदी ने पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चीन की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ पर बधाई देते हुए कहा तमिलनाडु राज्य और ऐतिहासिक शहर चेन्नई सदियों से भारत और चीन के बीच गहरे सांस्कृतिक और व्यापारिक आदान प्रदान का साक्षी रहा है।

उनको खुशी है कि उन्हें इस सांस्कृतिक धरोहर के कुछ सर्वोत्कृष्ट उदाहरणों से परिचित कराने का गौरव मिला। पिछले दो हजार सालों के अधिकांश काल खंड में भारत और चीन दुनिया की प्रमुख शक्तियां रही हैं। अब इस शताब्दी में हम फिर से साथ-साथ उस स्थिति को प्राप्त कर रहे हैं।

 

मोदी ने कहा वुहान समिट की भावनाओं से हमारे संबंधों को नया वेग और विश्वास मिला है। आज के चेन्नई विजन से दोनों देशों के बीच सहयोग का नया दौर शुरू होगा।


चीन के राष्ट्रपति ने बैठक में कहा, हम भारत की मेजबानी से आल्हादित है। मैंने और मेरे साथियों ने इसे बड़ी गहराई से महसूस किया है। यह मेरे और हमारे लिए बहुत ही शानदार अनुभव रहा।

इस अनौपचारिक शिखर वार्ता से कई विषयों पर चर्चा करने का मौका मिला और उनको खुशी है यह विचार मोदी का था। उन्होंने विश्वास दिलाया कि मोदी से हुई बातचीत के दौरान जो प्रस्ताव उनके सामने रखे गए हैं उन पर वे विचार करेंगे।

Narendra Modi
P S Kumar Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned