कामकाज को जारी रखने के लिए उद्योग प्रवासी मजदूरों की जगह तमिल श्रमिकों से कराएं काम: मुख्यमंत्री

Chief Minister मुख्यमंत्री ने शनिवार को industries उद्योगों से मुलाकात कर औद्योगिक उत्पादन में किसी भी प्रकार के गिरावट से बचने के लिए प्रवासी मजदूरों के स्थान पर तमिलनाडु के मजदूरों का उपयोग करने का आग्रह किया

By: Vishal Kesharwani

Published: 06 Jun 2020, 04:43 PM IST


-परिस्थिति को देखते हुए लॉकडाउन में बर्ती जाएगी और रियायत


चेन्नई. कोविड 19 की महामारी को देखते हुए प्रवासी मजदूर लगातार अपने राज्य जा रहे हैं, को मद्देनजर रखते हुए मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी ने शनिवार को उद्योगों से मुलाकात कर औद्योगिक उत्पादन में किसी भी प्रकार के गिरावट से बचने के लिए प्रवासी मजदूरों के स्थान पर तमिलनाडु के मजदूरों का उपयोग करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार करीबी से स्थिति पर निगरानी रखे हुए है और परिस्थिति को देखते हुए लॉकडाउन में और रियायत बर्ती जाएगी। यहां भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआइआइ) द्वारा आयोजित वर्चुवल मीट में लुमिनस तमिलनाडु के उद्घाटन के बाद बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा स्थिति को देखते हुए तमिलनाडु कौशल विकास निगम ने तमिल श्रमिकों को आवश्यक कौशल प्रदान करने के लिए सीआइआइ के साथ हाथ मिलाने की इच्छा जाहिर की है। इसके अलावा सरकार द्वारा जिला स्तरीय सुधार को लागू कर रोजगार और स्थानीय निकाय विभाग से विभिन्न क्लियरेंस प्राप्त करने की प्रक्रियाओं को और सरल किया जाएगा।

 

-विश्व अर्थव्यवस्था व्यापक रूप से प्रभावित हुई है

उन्होंने कहा कोविड 19 की वजह से विश्व अर्थव्यवस्था व्यापक रूप से प्रभावित हुई है और इसके परिणाम स्वरूप हमारे जीवनशैली में कई बदलाव भी आ गए हैं। मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन करना और कुछ सेक्टरों द्वारा घर से काम करना नया सामान्य हो गया है। मुख्यमंत्री ने कहा उन्होंने अधिकारियों को मुख्य रूप से चार बिंदुओं पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया है, जिसमें उद्योग नए सामान्य को अपनाए, राज्य में नए निवेश आकर्षित करें, सरकारी प्रक्रियाओं व प्रथाओं को सरल बनाने और व्यवसायों के लिए धन संचलन बढ़ाने के लिए ऋण प्रक्रियाओं को सरल बनाना शामिल हैं। तमिलनाडु में दवाओं और चिकित्सा उपकरणों के उत्पादन और विनिर्माण के लिए घोषित प्रोत्साहन के परिणामस्वरूप कई कंपनियों ने माल का उत्पादन शुरू किया है और देश भर में वितरित कर रही है। उन्होंने उद्योगों से काम के दौरान प्रत्येक सुरक्षा नियमों का संख्ती से पालन करने का भी आग्रह किया।

-955 कंपनियों के लिए 120 करोड़ के कैपिटल सब्सिडी की मंजूरी

कोविड 19 राहत और उत्थान योजना (सीओआरयूएस) के तहत सूक्ष्म, लघु और मध्यम वर्ग के उद्योगों की सहायता के लिए सरकार द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा 955 कंपनियों के लिए 120 करोड़ के कैपिटल सब्सिडी की मंजूरी दी गई है। पलनीस्वामी ने अन्य देशों के निवेशकों को आकर्षित करने के लिए गठित स्पेशल इनवेस्टमेंट प्रमोशन तास्क फोर्स और कोविड 19 के दौरान राज्य को सलाह देने के लिए आरबीआई के पूर्व गर्वनर सी.रंगराजन के नेतृत्व में गठित एक पैनल पर भी चर्चा की। उन्होंने हाल ही में 17 कंपनियों के साथ राज्य में 15,१२८ करोड़ के निवेश के लिए हुए समझौते और बहुत सारी प्रमुख कंपनियों के सीइओ को पत्र लिखने को लेकर भी चर्चा किया।

Corona virus COVID-19 COVID-19 virus
Show More
Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned