ईपीएस और ओपीएस पर कमीशनखोरी का आरोप

डीएमके कार्यवाहक अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री पलनीस्वामी और उपमुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कमीशनखोर

By: मुकेश शर्मा

Published: 14 Nov 2017, 04:47 AM IST

चेन्नई।डीएमके कार्यवाहक अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री पलनीस्वामी और उपमुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कमीशनखोर बताया। उनका कहना था कि इस कार्य में दोनों दो नली बंदूक की तरह है।

यहां अण्णा अरिवालयम में पत्रकारों से वार्ता में उन्होंने कहा कि तिरुनेलवेली में १३ नवम्बर को सरकार की ओर से एमजीआर की जन्मशती मनाई जाएगी। समारोह में सरकारी वाहनों के अलावा निजी स्कूलों के वाहनों को भी आवाजाही में लगाने का फरमान वल्लीयूर मोटरयान निरीक्षक ने जारी किया है। परिवहन विभाग की ओर से सभी स्कूलों व कॉलेजों को निर्देश हुए है कि वे अपने वाहन १३ नवम्बर के कार्यक्रम की वजह से एक दिन पहले ही उपलब्ध करा दें।

यही नहीं ९ नवम्बर को तेनी जिले में आयोजित कार्यक्रम में कलक्टर के निर्देश पर सरकारी, सरकारी मदद प्राप्त व मेट्रिकुलेशन स्कूलों में बारिश की वजह से अवकाश घोषित कर दिया गया जबकि वहां बारिश की एक बूंद नहीं गिरी। एमजीआर समारोह सरकारी खर्च पर हो रहा है। हमें इसमें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन हाईकोर्ट की रोक के बाद भी स्कूली बच्चों को इसमें भेजा जा रहा है। भारी बरसात से फसल बर्बाद हो चुकी है। जनता और किसानों की आंख में पानी है लेकिन सरकार बेफिक्र है। जनता के करों से अर्जित रुपए का उपयोग कर इन आयोजनों के जरिए सीएम और डिप्टी सीएम दो नली बंदूक की तरह आचरण कर रहे हैं यानी कि भ्रष्टाचार करने व कमीशन वसूलने में एकसाथ कार्य कर रहे हैं।


इलाज कराने आई महिला की सर्जरी के बाद मौत

चेन्नई के एक हॉस्पिटल में वजन कम कराने के लिए सर्जरी कराने आई सिंगापुर की 35 वर्षीया महिला की मौत हो गई। मृतक महिला एलिसिया मेदानिन खान (35) के पति ने डॉक्टरों और हॉस्पिटल के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि महिला का वजन 85 किलो था और उसे एसआर मूर्ति हॉस्पिटल में सर्जरी के लिए भर्ती कराया गया था। उसका वजन लगातार बढ़ रहा था और वह फिट रहना चाहती थी।

सर्जरी के बाद महिला को आईसीयू में भर्ती कराया गया। पेशे से बिजनसमैन महिला के पति विजय कुमार ने हॉस्पिटल पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा, सर्जरी के बाद डॉक्टरों ने मुझे अपनी पत्नी से नहीं मिलने दिया। मुझसे कहा गया कि उनको अभी 24 घंटे की निगरानी में रखा गया है। रात को मुझे सूचना मिली कि अचानक आए हार्ट अटैक की वजह से पत्नी की मौत हो गई है। उन्होंने हॉस्पिटल पर आरोप लगाते हुए कहा, मैंने डॉक्टरों से पत्नी की हेल्थ डिटेल के बारे में लिखित जानकारी मांगी, जो देने से उन्होंने मना कर दिया। इसके बाद हॉस्पिटल ने शव को परीक्षण के लिए भेज दिया।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned