प्रतिबद्धता, रचनात्मकता एवं सामाजिक दायित्व है सफलता का आधार

वेलूर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (वीआईटी) के तत्वावधान में मंगलवार को वंडलूर, केलम्बाक्कम कैम्पस में यूनिवर्सिटी-डे समारोह का आयोजन...

By: मुकेश शर्मा

Published: 04 Apr 2019, 12:14 AM IST

चेन्नई।वेलूर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (वीआईटी) के तत्वावधान में मंगलवार को वंडलूर, केलम्बाक्कम कैम्पस में यूनिवर्सिटी-डे समारोह का आयोजन हुआ। समारोह में मुख्य अतिथि चेन्नई के अमेरिकी महावाणिज्यदूत रॉबर्ट जी. वर्गीस तथा अध्यक्ष वीआईटी के संस्थापक एवं चांसलर डॉ. जी. विश्वनाथन तथा विशिष्ट अतिथि लाइफ सेल इंटरनेशनल प्रा. लि. के चेयरमैन अभयकुमार श्रीश्रीमाल थे। समारोह की शुरुआत डॉ. जी. विश्वनाथन के स्वागत भाषण से हुई।

मुख्य अतिथि वर्गीस ने अपने संबोधन में पुरस्कार विजेताओं की सराहना करते हुए कठोर परिश्रम एवं प्रतिबद्धता को सफलता का मूलमंत्र बताया।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विशिष्ट अतिथि अभयकुमार श्रीश्रीमाल ने शैक्षणिक उपलब्धियों के लिए विद्यार्थियों को बधाई प्रेषित की। उन्होंने आत्मविश्वास एवं प्रतिबद्धता, रचनात्मकता एवं सामाजिक दायित्व के निर्वहन को सफलता का आधार बताते हुए इस पर विशेष ध्यान देने को कहा। अध्यक्षीय संबोधन में डॉ. जी. विश्वनाथन ने विद्यार्थियों की सफलता के पीछे शिक्षकों की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि भले ही यूएसए उच्च शिक्षा में अग्रणी है लेकिन भारत भी अब दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है। इस दौरान उन्होंने वीआईटी को एक मॉडल संस्थान के रूप में देखने की इच्छा प्रकट करते हुए गुणवत्ता, उपयोगिता एवं सामथ्र्य तीनों को ही उच्च शिक्षा का अनिवार्य अंग बताया।

वीआईटी के वाइस प्रेसिडेंट जी.वी. सेल्वम ने अपने संबोधन के दौरान विद्यार्थियों को आत्मनिर्भर एवं जिम्मेदार बनने के लिए कहा। प्रो वीसी डॉ. एन. सुंदरम ने वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए संस्थान की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। इस दौरान अतिथियों ने विभिन्न वर्गों में लगभग 977 लोगों को ट्राफी, प्रमाण-पत्र एवं नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned