जयललिता स्मारक का निर्माण कार्य शुरू

राज्य के मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी और उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने सोमवार को मरीना बीच पर राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री स्व.जे.जयललिता...

By: मुकेश शर्मा

Published: 07 Jun 2018, 09:35 PM IST

चेन्नई।राज्य के मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी और उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने सोमवार को मरीना बीच पर राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री स्व.जे.जयललिता के स्मारक निर्माण की नींव रखी। संवाददाताओं से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा अगले एक साल के अंदर स्मारक निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।

इस मौके पर राज्य मत्स्यपालन मंत्री डी. जयकुमार के अलावा केबिनेट के अन्य सदस्य उपस्थित थे। मंत्रियों के अलावा एआईएडीएमके के अन्य वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता उपस्थित थे।
उमड़ी भीड़ नींव रखने का कार्यक्रम तो ९ बजे से शुरू होना था लेकिन सुबह ७ बजे से ही बीच पर लोगों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया था।

अधिक भीड़ को व्यवस्थित करने के लिए कामराज सालै पर २०० से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था।

होसूर निवासी एल. पलनीराज नामक एक व्यक्ति, जो दो दिन पहले किसी काम से चेन्नई आया था, ने बताया कि वह इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सुबह ८ बजे बीच पर पहुंच गया था और यह उसके जीवन का कभी न भूलने वाला क्षण बन गया।

जयललिता की होर्डिंग हटाने पर पिटे टै्रफिक रामास्वामी

मरीना बीच पर पूर्व मुख्यमंत्री स्व. जे. जयललिता की लगी होर्डिंग को हटाने पर एआईएडीमएके कार्यकर्ताओं ने सामाजिक कार्यकर्ता ट्रैफिक रामास्वामी को चप्पल-झाडू से पीट दिया। राज्य सरकार द्वारा सोमवार को जयललिता के स्मारक निर्माण की आधारशिला रखने के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिसके लिए कामराज सालै के चारों ओर उनकी होर्डिंग, कटआउट और बैनर लगाए गए थे।
इसी बीच सामाजिक कार्यकर्ता रामास्वामी वहां पहुंच कर एक कार पर चढ़ गए और अम्मा की होर्डिंग को फाडऩा शुरू कर दिया। यह देख एक एआईएडीएमके महिला कार्यकर्ता व अन्य ने उनको चप्पल व झाडू से पीटा। वहां उपस्थित पुलिसकर्मियों ने रामास्वामी को उनसे बचाते हुए सडक़ के किनारे किया लेकिन उनकी नारेबाजी जारी रही।

भूमि पूजन धार्मिक संस्कार

इसी बीच सरकार द्वारा नींव रखते हुए भूमि पूजन कार्यक्रम को धार्मिक संस्कार कहते हुए डीएमके ने इसका कड़ा विरोध किया। पार्टी का आरोप है कि इस तरह के आयोजन से प्रदेश की धर्मनिरपेक्ष संस्कृति का उल्लंघन किया गया है। डीएमके प्रवक्ता ए. सरवणन का इस बारे में कहना था कि ऐसा पहले कभी भी नहीं हुआ था। इससे भाजपा के प्रति राज्य सरकार की निष्ठा का पता चलता है।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned