लॉकडाउन में हुई अधिक खपत

तांजेडको ने दी कोर्ट में सफाई

By: ASHOK SINGH RAJPUROHIT

Published: 07 Jul 2020, 06:43 PM IST

चेन्नई. लॉकडाउन ने लोगों के बिजली बिल बढ़ा दिए हैं। तांजेडको ने मद्रास हाईकोर्ट को बताया कि लोगों के इन दिनों घरों में रहने से बिजली की खपत बढ़ी है जिससे बिजली के बिल भी अपेक्षाकृत अधिक आ रहे हैं। अतिरिक्त महाधिवक्ता पी.एस. अरविन्द पांडियन ने कोर्ट को यह जानकारी दी। याची एम.एल. रवि ने लॉकडाउन के दौरान तांजेडको की ओर से बिजली गणना की पद्धति को मनमानी व अन्यायपूर्ण बताया था।

पिछले बिल के आधार पर ही राशि की वसूली

याची ने कहा कि तांजेडको पिछले बिल के आधार पर ही राशि की वसूली कर रहा है। ऐसे में बिल अचानक बढ़कर आ रहे हैं। इससे अधिकांश उपभोक्ता प्रभावित हुए हैं और उनको पचास फीसदी अधिक राशि का बिल चुकाना पड़ रहा है। प्रदेश में दो महीने के आधार पर बिल दिए जाते हैं। राशि की गणना अलग-अलग आधार पर होती है यानी 100 यूनिट से कम खपत करने, 101 से 200 यूनिट, 201 से 500 यूनिट तथा 500 यूनिट से ऊपर खपत करने वालों के आधार पर बिल तैयार होता है।

सौ यूनिट खर्च करने तक कोई शुल्क नहीं

उपभोक्ताओं के लिए सौ यूनिट खर्च करने तक कोई शुल्क नहीं लिया जाता लेकिन इसके ऊपर खर्च करने पर अलग-अलग चार्ज लिया जाता है। अब बढ़कर आए बिलों ने उपभोक्ताओं को प्रभावित किया है और उनको अधिक राशि चुकानी पड़ रही है। इसके बाद खंडपीठ के न्यायाधीश एमएम सुन्दरेश व न्यायाधीश आर हेमलता ने 8 जुलाई तक सुनवाई स्थगित कर दी।

Corona virus
ASHOK SINGH RAJPUROHIT
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned