बन्द हवा में कोरोना संक्रमण के फैलने की संभावना अधिक

बन्द हवा में कोरोना संक्रमण के फैलने की संभावना अधिक
- हवा के प्रसार के खराब तरीके से वायरस को मिलता है तेजी से संचरण का मार्ग
- जॉर्जिया विश्वविद्यालय के शोध में हुआ खुलासा

By: Ashok Rajpurohit

Published: 14 Oct 2020, 08:53 PM IST

चेन्नई. तंग, घुटन भरे व बन्द हवा में कोरोना संक्रमण के फैलने की संभावना अधिक रहती है। खराब हवा में वायलस तेजी से फैलता है। यानी बन्द वातावरण में भी संक्रमण हो सकता है। बन्द हवा व खराब वातावरण के साथ हवा के प्रसार के खराब तरीके वायरस को तेजी से संचरण का मार्ग उपलब्ध करा सकते हैं। जॉर्जिया विश्वविद्यालय के शोध में यह बात सामने आई है। अध्ययन में पाया गया कि बन्द जगह पर कोरोना वायरस हवा से भी फैलता है।
शोध के तहत लोगों को दो समूह में बांटा गया। इस दौरान खुली जगह पर प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। दोनों समूहों को अलग-अलग बसों के माध्यम से कार्यक्रम स्थल तक लाया गया। दोनों बसों को बन्द रखा गया। इस दौरान दोनों बसों में एयर कंडीशनर (एसी) चालू रखा गया। कार्यक्रम स्थल पर दोनों समूहों के लोग आपस में काफी घुले-मिले।
बन्द वातावरण से संचरण तेजी से
इसमें देखा गया कि कोरोना संक्रमित के साथ बस में जाने वाले अधिकांश लोग कोरोना संक्रमित हो गए। लेकिन समारोह में गए लोगों में से भीड़ का हिस्सा बनने के बावजूद बहुत कम लोग संक्रमित हुए। इससे यह साफ पता चला कि बस की वजह से ही कोरोना संक्रमण अधिक हुआ। कुछ दिन बाद पता चला कि जो लोग बस में गए थे उन्हें संक्रमण हुआ है हालांकि इस दौरान वे किसी संक्रमित व्यक्ति के पास नहीं बैठे थे। इससे यह पता चला कि बस के बन्द वातावरण में संचरण अपेक्षाकृत तेजी से फैला।
बून्दों के माध्यम से वायरस का शरीर में प्रवेश
इस अध्ययन में शामिल रहे एसोसिएट प्रोफेसर ये शेन के अनुसार, कोरोना वायरस के संचरण की सबसे बड़ी वजह निकट संबंध के कारण बून्दों के माध्यम से वायरस का शरीर में प्रवेश करना है। यानी कोरोना वायरस कहीं भी और कैसे भी किसी को पीड़ित कर सकता है। इस शोध में बताया गया कि महामारी विज्ञान साक्ष्य के अनुसार वायरस लम्बी दूरी तक संचरण करता है और यह हवा में संचरण भी हो सकता है।
फेस मास्क के पक्ष में ठोस सबूत
हालांकि इस अध्ययन में फेस मास्क के पक्ष में ठोस सबूत दिए गए हैं। शोधकर्ताओं ने सर्दियों के बढ़ने के साथ इसके प्रसार में तेजी की संभावना जताई है। ऐसे में इसके प्रसार को समझना जरूरी है। वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रभावी ढंग से नियोजन की दरकार है।

Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned