कोविड से मरने वालों के मृत्यु प्रमाणपत्र में कोरोना का नहीं हो रहा उल्लेख: पूर्व मुख्यमंत्री

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी ने राज्य सरकार से कहा कि रोगियों की होने वाली मौत का मुख्य कारण अन्य बीमारी नहीं

By: Vishal Kesharwani

Published: 09 Jun 2021, 04:50 PM IST


चेन्नई. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी ने राज्य सरकार से कहा कि रोगियों की होने वाली मौत का मुख्य कारण अन्य बीमारी नहीं बल्कि कोरोना वायरस है, लेकिन मृत्यु प्रमाणपत्र में इसका उल्लेख नहीं किया जा रहा है। यहां जारी एक विज्ञप्ति में उन्होंने आरोप लगाया कि कोविड से मरने वालों की मृत्यु प्रमाणपत्र में मौत के कारण का सही नहीं बल्कि गलत उल्लेख किया जा रहा है। ऐसी परिस्थिति में कोविड से अपने माता पिता को खोने वाले बच्चे राज्य और केंद्र सरकार द्वारा घोषित मुआवजे के पात्र नहीं हो पाएंगे।

 

पिछले कुछ दिनों से राज्य भर में इस प्रकार की शिकायत आ रही है कि कोरोना से मरने वालों के मृत्यु प्रमाणपत्र में इसका उल्लेख ही नहीं किया जा रहा है। इसके कारण मृतकों के बच्चों को मुआवजा देने से भी इंकार किया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से उन बच्चों की संख्या की गणना कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है जिन्होंने अपने माता पिता को कोविड से खोया है। इसलिए मै राज्य सरकार से मृत्यु प्रमाणपत्र में मृत्यु के सही कारण का उल्लेख करने का आग्रह करता हूं। साथ ही सरकार मृतकों के बच्चों के लिए मुआवजा सुनिश्चित कराए।

 


अंतिम संस्कार में प्रोटोकॉल का नहीं हो रहा पालन
पलनीस्वामी ने कहा कि मृत्यु प्रमाणपत्र में मौत का कारण नही शामिल करने के कारण दाह संस्कार के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पालन भी नही किया जा रहा है। मरने वालों का शव उनके रिश्तेदारों को दिया जा रहा है और अंतिम संस्कार में काफी लोग शामिल हो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि एक साल पहले जब इस तरह के मामलों की शिकायत हुई थी तो ओपीएस ने अपने अधिकारियों का बचाव किया था।

 

सेलम में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा था कि अगर कोई कोविड से मरा हो और उनका विवरण सरकारी सूची में शामिल नहीं हुआ हो तो मरने वालों के रिश्तेदार तत्काल मीडिया के पास जाकर इसका खुलासा कर सकते हैं। उन्होंने कहा था कि काफी लोग दूसरी बीमारी से भी मर रहे हैं इसलिए सभी का कोविड से मौत होने का उल्लेख नहीं किया जा सकता है।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned