घर में घुसने की पहली शर्त -कराओ कोरोना की जांच

महिला ने पति को घर में नहीं दिया प्रवेश
- कहा पहले Corona की जांच करवाकर आओ फिर मिलेगा प्रवेश

By: shivali agrawal

Updated: 18 Apr 2020, 04:52 PM IST

नेल्लोर. कोरोनो वायरस संक्रमण को लेकर आशंकाओं के चलते आंध्र प्रदेश में एक महिला ने अपने पति को बिना कोरोना वायरस (कोविड-19) परीक्षण कराए घर में घुसने देने से मना कर दिया। यह घटना नेल्लोर जिले के वेंकटगिरी की है। लॉकडाउन के चलते एक व्यक्ति नेल्लोर शहर में फंस गया था। बाद में वह किसी तरह अपने शहर और घर पहुंचा।
पिछले महीने लॉकडाउन लागू होने के बाद से नेल्लोर में एक सोने की दुकान में काम करने वाला व्यक्ति वहां फंसा हुआ था। आखिरकार बुधवार को वह वेंकटगिरी पहुंचने में सफल रहा। जब वह घर पहुंचा तो उसकी पत्नी ने उसे घर में प्रवेश करने से पहले कोरोनो वायरस की जांच कराने के लिए कहा।

सबके लिए जरूरी है
महिला ने कहा कि यह बच्चों और समुदाय की सुरक्षा के लिए आवश्यक था। उसने सुझाव दिया कि वह एक स्थानीय आंगनवाड़ी केंद्र में रहे और स्वयंसेवकों से अनुरोध किया कि वह उसका परीक्षण करवाएं। स्वास्थ्य कर्मी बाद में उस व्यक्ति को नेल्लोर ले गए, जहां उसके नमूने लिए गए। उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई जो कि उस व्यक्ति और उसके परिवार के लिए राहत की बात थी। महिला का कहना था कि वह किसी की भी जान जोखिम में नही डाल सकती।
महिला ने कहा मैं अपने परिवार एवं पड़ोसियों के जीवन जोखिम में नहीं डालना चाहती थी । इसीलिए मैंने कहा कि वह परीक्षण के बाद घर में प्रवेश करें। इसी सप्ताह की शुरुआत में तेलंगाना में भी इसी तरह की घटना हुई, जिसमें एक गांव के सरपंच ने अपनी मां को दूसरे गांव से घर वापस नहीं आने दिया क्योंकि उस गांव का एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव निकला था और वहां लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जा रहा था।

Corona virus
Show More
shivali agrawal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned