एनआइटी तिरुचि ने की स्मार्ट इंडिया हैकथॉन की मेजबानी

देशव्यापी साफ्टवेयर प्रतियोगिता

By: Santosh Tiwari

Updated: 03 Mar 2019, 05:35 PM IST

तिरुचि. केंद्रीय मानव संस्थान विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) द्वारा नोडल सेंटर के रूप में चयनित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) तिरुचिरापल्ली ने शनिवार को स्मार्ट इंडिया हैकथॉन (एसआइएच-2019) के ग्रांड फिनाले की मेजबानी की। प्रधानमंत्री कार्यालय की मदद से 3 मार्च तक चलने वाला यह कार्यक्रम एमएचआरडी द्वारा आयोजित राष्ट्रव्यापी सॉफ्टवेयर प्रतियोगिता का हिस्सा है।

इसमें देश भर के बड़े-बड़े बुद्धिजीवी, विषय-विशेषज्ञ एवं प्रौद्योगिकी-प्रेमियों द्वारा उद्योग से संबंधित विभिन्न समस्याओं का समाधान किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि यह एमएचआरडी द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम स्मार्ट इंडिया हैकथॉन का तीसरा संस्करण है। इस साल देश भर के 48 केंद्रों पर आयोजित इस समारोह में 1300 से भी अधिक टीमें 36 घंटे के भीतर किसी समस्या का व्यावहारिक समाधान प्रस्तुत करेंगी।

 

सूचनाओं के प्रसार को और तेज करेगा क्लाउड स्टोरेज

चेन्नई. एमआरओडब्ल्यूएल ने सोशल क्लाउड स्टोरेज की शुरुआत की है। इसके साथ ही असीमित क्लाउड स्टोरेज निशुल्क किया जा सकेगा। कन्टेंट शेयरिंग को इससे ग्लोबल स्केल उत्साहित किया जा सकेगा। यूजर आसानी से अपने फाइल स्टोर कर सकेंगे। इससे यूजर की इन्टरनेट खोज से जुड़ी समस्या का समाधान होगा। यह सूचना शेयरिंग का नया मानक है। यह ऐप्प सहायक है। यह इन्टरनेट सर्च को पूरा करता है। आज दुनिया के डिजीटल सूचना का आधा सर्च से प्राप्त नहीं हो पाता। सीइओ अरविन्द रायचूर ने बताया कि इसका कारण इसका विभिन्न क्लाउड स्टोरेज प्लेटफार्म, पर्सनल कम्प्यूटर तथा वर्क कम्प्यूटर में होना है। इस समस्या का हल सोशल क्लाउड स्टोरेज है। यह खोज को आसान बनाएगा। इसके जरिए एक सर्च बाक्स से हासिल किया जा सकता है।

Santosh Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned