फ्रंट लाइनर आरपीएफ कर्मियों का टीकाकरण शुरू, पहले दिन लगा 43 कर्मियों को लगा वैक्सीन

रेलवे विभाग ने अपने कर्मियों को वैक्सीन लगवाना शुरू कर दिया है, ताकि संक्रमण के खतरे से बचा जा सके।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 20 Feb 2021, 09:00 PM IST

चेन्नई.

स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना का टीका लगने के बाद शनिवार को ट्रेनों में यात्रियों की सुरक्षा करने वाले रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (आरपीएफ) के जवानों को कोरोना संक्रमण से बचाने वाली वैक्सीन लगाने की शुरुआत हुई। रेलवे का परिचालन सुचारू रूप से चलता रहे, इसलिए रेलवे हर स्तर पर सूझबूझ के साथ काम कर रहा है। कोरोना संक्रमण अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। इसे देखते हुए रेलवे विभाग ने अपने कर्मियों को वैक्सीन लगवाना शुरू कर दिया है, ताकि संक्रमण के खतरे से बचा जा सके।

दक्षिण रेलवे के आरपीएफ चेन्नई डिवीजन के सीनियर डिविजनल सिक्योरिटी कमिश्रर सेंथिल कुमरेशन ने टीकाकरण अभियान का उद्घाटन किया। पेरम्बूर स्थित रेलवे हॉस्पिटल में टीकाकरण के लिए केन्द्र बनाया गया। शनिवार को टीकाकरण का पहला दिन था। इस दौरान चेन्नई रेल मंडल के 43 आरपीएफ कर्मियों का टीकाकरण हुआ। डा. एमजीआर चेन्नई सेंट्रल रेलवे स्टेशन के आरपीएफ इंस्पेक्टर एलएस शिवनेशन ने बताया कि पहले दिन उन्होंने अपने अन्य सार्थियों के साथ कोरोना वैक्सीन लगवाया है।

शिवनेशन ने कहा, आरपीएफ का हर अधिकारी फ्रंट लाइन में काम करता है। कोरोना काल में श्रमिक गाडिय़ों के आने जाने के दौरान आरपीएफ ने सराहनीय काम किया था। आरपीएफ चेन्नई रेल यात्रियों एवं आम जनता के का साथ उनका सीधा संपर्क रहता है। आरपीएफ जवानों को वैक्सीन लगाने के लिए तैयारी की जा रही है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned