तमिलनाडु में जनवरी में Covid-19 का टीका लगने की उम्मीद, 21 हजार कर्मियों को दी जा रही ट्रेनिंग

- कोरोना टीका लगाने के लिए प्रशिक्षित हो रहे स्वास्थ्यर्मी

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 24 Dec 2020, 05:36 PM IST

चेन्नई.

देश में कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर तैयारियों तेज होने लगी हैं। प्रशिक्षण और बुनियादी ढांचा के विकास पर सरकारें फोकस कर रही हैं। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सफल टीकाकरण कराने की तैयारी में स्वास्थ्य महकमा जुटा है। टीकाकरण कैसे किया जाएगा, कितना डोज देना है इन सभी बिंदुओं पर स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है।

इसी कड़ी में तमिलनाडु में प्राथमिकता के आधार पर टीका लगाने के लिए लोगों की एक सूची तैयार की गई है। 21 हजार कर्मियों को टीकाकरण के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। इसके राज्य में 46,000 केंद्रों की पहचान की गई है, जहां लोगों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के एक शीर्ष अधिकारी ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी।

इस सूची में पांच लाख स्वास्थ्य कर्मचारी के साथ-साथ नगरपालिका प्रशासन, राजस्व और पुलिस सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स, बुजुर्ग और पहले से किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त व्यक्तियों का नाम है। स्वास्थ्य सचिव जे. राधाकृष्णन ने यह बात कहीं। शीर्ष अधिकारी ने कहा कि टीका लगाने के लिए 21 हजार लोगों की पहचान की जा चुकी है और उन्हें प्रशिक्षित किया जा रहा है। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि टीकाकरण के उद्देश्य के लिए 46 हजार केंद्रों की पहचान की गई है। यहां टीकाकरण की व्यवस्था के लिए कोल्ड चेन जैसा आवश्यक बुनियादी ढांचा तैयार है।

राधाकृष्णन ने आगे बताया कि अकेले तमिलनाडु में 51 वॉक-इन कूलर और 2,800 माध्यमिक कोल्ड स्टोरेज प्वाइंट हैं। जनवरी में टीके लगने की उम्मीद है। टीकों की मंजूरी केंद्र से जल्द आनी चाहिए। चूंकि तमिलनाडु में अधिक बुजुर्ग आबादी है, इसलिए यह उम्मीद की जाती है कि राज्य को अधिक टीके आवंटित किए जा सकते हैं और इस तरह के पहलुओं पर चर्चा की जा रही है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned