कोरोना वायरस: तमिलनाडु में पहली बार दस दिनों में 1000 से अधिक मौतें

- सिर्फ 11 दिनों में 500 से 1000 हुए मौतें

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 12 Aug 2020, 03:33 PM IST

चेन्नई.

तमिलनाडु में कोरोना का संक्रमण गंभीर रूप ले चुका है। यहां पिछले दस दिनों में 1000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है इसी अवधि में राज्य में 56911 कोरोना संक्रमण के मामले आए। इन दस दिनों में राज्य में संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या 1125 हो गया। तमिलनाडु में देश में सबसे ज्यादा 3.08 लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं। वहीं राज्य में रिकवरी दर 81.2 प्रतिशत से ज्यादा तथा मृत्यु दर 1.7 है।

राज्य में भले ही कोरोना वायरस से स्वस्थ लोगों का प्रतिशत बढऩे के साथ ही मृत्यु दर भी बढ़ रही है, यहां मौत का रोज का आंकड़ा अब 100 से ज्यादा हो गया है। तमिलनाडु में कोरोना से मौत का पहला मामला 25 मार्च 2020 को सामने आया था।

मौत का औसत 1 से 500 से तक पहुंचने में करीब 80 दिन का वक्त लगा। इस हिसाब से राज्य में 16 जून को कोरोना से मरने वालों की संख्या 528 हुई। लेकिन, अगले 500 यानी 1000 के आंकड़े को मात्र 11 दिन में ही छू लिया। यानी 27 जून को 68 मौतों के साथ राज्य में कोरोना संक्रमित मौतों का आंकड़ा 1000 पार कर गया। इससे कोरोना की गंभीरता का सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है। वहीं अगले 1000 यानी 2000 के आंकड़े को छूने में मात्र 15 दिन ही लगे। 13 जुलाई को 66 लोगों की मौत हुई और मौतों का आंकड़ा 2000 पार कर गया। इसी तरह 2 को राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 4000 का आंकड़ा पार कर गई।

अगस्त महीने में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। यहां 1 अगस्त को 99 लोगों की मौत हुई और 11 अगस्त को 118 लोगों ने दम तोड़ दिया। हालांकि राज्य में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों की तुलना में मृत्यु दर देश में अन्य राज्यों की तुलना में कम है। और यहां रिकवरी रेट भी 80 प्रतिशत से अधिक है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned