VIDEO काणुम पोंगल पर पर्यटन स्थलों पर दिखी भीड़

पोंगल के अंतिम और चौथे दिन को काणुम कहते हैं। काणुम पोंगल की मान्यता है कि लोग इस दिन अपने घरों से बाहर रहतेे हैं। लोग घरों से निकलकर किसी पर्यटन स्थल या समुद्र तटों और पर्यटन स्थलों का रुख करते हैं।

By: MAGAN DARMOLA

Published: 17 Jan 2020, 07:16 PM IST

चेन्नई. तमिलनाडु के महत्वपूर्ण पर्व पोंगल के अंतिम और चौथे दिन को काणुम कहते हैं। काणुम पोंगल की मान्यता है कि लोग इस दिन अपने घरों से बाहर रहतेे हैं। लोग घरों से निकलकर किसी पर्यटन स्थल या समुद्र तटों और पर्यटन स्थलों का रुख करते हैं। काणुम पोंगल के तहत राज्य के लोग सपरिवार घर से निकले और तफरीह की।

काणुम पोंगल पर पर्यटन स्थलों पर दिखी भीड़

राज्य में यह एक परम्परा बन गई है जब पूरा परिवार पर्यटन पर निकलता है। पोंगल के दिन घरों में बने स्वादिष्ट व्यंजन के साथ उनका सफर शुरू होता है। पर्यटन स्थलों पर खेलादि मनोरंजन के बाद वे शाम को घर लौटते हैं। गिण्डी नेशनल चिल्ड्रन पार्क में भी कुछ ऐसा ही नजारा था। नेशनल पार्क में भी सपरिवार आए लोगों ने पूरा लुत्फ लिया। यहां टिकट बिक्री काउंटर पर दिनभर लोगों की भीड़ नजर आई। सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रही।

मरीना बीच पर भी उमड़ी भीड़

काणुम पोंगल पर पर्यटन स्थलों पर दिखी भीड़

विश्व के दूसरे सबसे बड़े समुद्रतट मरीना पर पांव रखने की जगह नहीं थी। हालांकि पुलिस का कहना था कि पिछले साल की तुलना में इस बार पर्यटक कम आए है। इसकी एक वजह कई लोगों का पैतृक शहरों से वापस नहीं लौटना है।

काणुम पोंगल पर पर्यटन स्थलों पर दिखी भीड़

बच्चे, महिलाएं और बूढ़े सभी काणुम पोंगल मनाने सोल्लास पहुंचे। वहां नट का तमाशा दिखाने वालों को भी दर्शक मिले तो झूला झुलाने वालों को बड़ी संख्या में ग्राहक। फुटपाथी ग्राहकों की भी चांदी कटी।

MAGAN DARMOLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned