महिलाओं के खिलाफ तेजी से बढ़ रहे साइबर अपराध

महिलाओं के खिलाफ तेजी से बढ़ रहे साइबर अपराध

MAGAN DARMOLA | Updated: 02 Aug 2019, 06:40:20 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी डीजीपी सांगाराम जांगीड ने सेवानिवृत्त होने के बाद साइबर अपराध पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि आए दिन साइबर अपराध के मामले दर्ज हो रहे हैं जिसमें महिलाओं को आसानी से निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा साइबर अपराधों की सीसीबी जांच चुनौतीपूर्ण है।

चेन्नई. डिजीटल दुनिया की ओर कदम बढ़ा रहे चेन्नई में जैसे-जैसे लोग सोशल मीडिया और स्मार्टफोन के जरिए स्मार्ट होते जा रहे हैं, वैसे-वैसे महानगर में साइबर अपराधों का ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है विशेषकर महिलाओं के खिलाफ। वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी डीजीपी सांगाराम जांगीड ने सेवानिवृत्त होने के बाद गुरुवार को पत्रकारों से वार्ता में यह बात कही। उन्होंने साइबर अपराध पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि आए दिन साइबर अपराध के मामले दर्ज हो रहे हैं जिसमें महिलाओं को आसानी से निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा साइबर अपराधों की सीसीबी जांच चुनौतीपूर्ण है। हमें महिलाओं को भी साइबर अपराध के प्रति जागरूक करना होगा। इस मौके पर उन्होंने कहा कि वे थके नहीं हंै वे काम करते रहेंगे। उनके काम को हमेशा से मीडिया का समर्थन मिला है। उन्होंने मीडिया को धन्यवाद ज्ञापित किया।

  • अपने ऑपरेशन को पर्दे पर देखना यादगार रहा

 

sangaram jangid

सांगाराम जांगीड ने कहा अपने ऑपरेशन के डेढ़ साल को रूपहले पर्दे पर देखना बहुत यादगार पल था। अद्भुत अनुभव था खुद के काम को 70 एम एम के पर्दे पर देखना। वर्ष 1995 से 2005 तक तमिलनाडु सहित प्रदेश के पांच राज्यों राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली और उत्तरप्रदेश में आतंक का पर्याय बनी ओमा बावरिया गैंग को खत्म करने वाले पुलिस अधिकारी और चेन्नई पुलिस डीजीपी सांगाराम जांगीड़ ने गैंग का सफाया किया था। कुख्यात ओमा बावरिया गैंग का सफाया करने वाले जांबाज पुलिस अधिकारी सांगाराम पर भी दक्षिण फिल्म इंडस्ट्री ने फिल्म बनाई है। यह फिल्म कुख्यात बावरिया गैंग के खात्मे की रीयल स्टोरी पर आधारित है। धीरन नाम से बनी फिल्म 17 नवम्बर को रिलीज हुई थी।

  • अपनी टीम को किया याद
  • डेढ़ साल तक राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली और महाराष्ट्र में ओमा बावरिया केस को सुलझाने के लिए अपनी टीम के साथ प्रयास कर सफलता पाने वाले सांगाराम जांगीड़ ने अपनी टीम के अन्य पुलिस अधिकारियों को याद किया और ओमा बावरिया गैंग को सफाया करने में उनकी भूमिका के लिए शुक्रिया अदा किया। उनके मुताबिक बहुत मुश्किल था ऑपरेशन लेकिन मेहनत रंग लाई।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned