तमिलनाडु की ओर तेजी से बढ़ रहा चक्रवाती तूफान निवार, कई इलाकों पर बाढ़ का ख़तरा

नागपट्टिनम से लेकर चेन्नई के बीच का समूचा तटीय क्षेत्र 36 घंटों के लिए भयानक मौसम का अनुभव कर सकता है।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Updated: 23 Nov 2020, 04:02 PM IST

चेन्नई.

दक्षिण पश्चिम तटों और बंगाल की दक्षिणी खाड़ी में हवा का दबाव बढऩे की वजह से तमिलनाडु और पुदुुचेरी में चक्रवात निवार का खतरा मंडरा रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों में इस तेज हवा के तूफान में तब्दील होने की संभावना है। इस तूफान के 25 नवम्बर को तमिलनाडु और पुदुचेरी के तट पर बसे इलाके कारैकाल और महाबलीपुरम में पहुंचने का अनुमान है। अगर हवा का दबाव उत्तर पश्चिम की ओर जाता है, तो निवार तूफान उत्तर पूर्व होते हुए 24 नवम्बर को श्रीलंकाई तटों पर पहुंच सकता है।

मानसून 2020 के बाद बंगाल की खाड़ी में बनने वाला यह पहला चक्रवाती तूफान है। लैंडफॉल से पहले ही ‘निवार’ चक्रवाती तूफान के भीषण चक्रवाती तूफान की क्षमता में पहुंचने की संभावना है। तूफान उत्तर-पश्चिमी दिशा में बढ़ते हुए तमिलनाडु के तटों की ओर जाएगा। इसके श्रीलंका पर लैंडफॉल करने की आशंका नहीं है। तूफान ‘निवार’ के 25 नवम्बर को कारैकाल के उत्तरी हिस्सों में पुदुुचेरी के निकट टकराएगा। नागपट्टिनम से लेकर चेन्नई के बीच का समूचा तटीय क्षेत्र 36 घंटों के लिए भयानक मौसम का अनुभव कर सकता है।

मौसम विभाग के मुताबिक इस दौरान हवा की रफ्तार 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है। ऐसे में तमिलनाडु और पुदुुचेरी के कई इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है। स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने उन मछुआरों को भी सलाह दी है जो मछली पकडऩे के लिए पहले ही बाहर निकल चुके हैं।

ये तूफान फिलहाल कहां है?
बंगाल की खाड़ी उठा ये तूफान लगातार आगे की तरफ बढ़ रहा है। फिलहाल पुदुचेरी से ये तूफान 600 किलोमीटर दक्षिण में है। जबकि चेन्नई से दक्षिण पूर्व में 630 किलोमीटर दूर है। अगले 24 घंटे में ये चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा।

तट से कब टकराएगा?
मौसम विभाग के ताजा बुलेटिन के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में ये उत्तर-पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है। संभावना है कि 25 नवम्बर को दोपहर में ये तूफान तमिलनाडु और पुदुुचेरी के तटों को पार कर जाएगा। इस दौरान 100-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है।

इन इलाकों में भारी बारिश का अलर्ट
दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत में 23 नवम्बर से बारिश की गतिविधि बढऩे का अनुमान है और तमिलनाडु, पुदुुचेरी तथा कारैकाल क्षेत्रों में 24 और 26 नवम्बर के बीच गरज चमक के साथ बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के बुलेटिन में कहा गया है कि दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश, रायलसीमा और तेलंगाना में भी 25 से 26 नवंबर तक बारिश होने का अनुमान है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned