scriptDMK govt presents exclusive farm budget, first in Tamilnadu | डीएमके सरकार ने तमिलनाडु में पहली बार कृषि के लिए अलग बजट पेश किया | Patrika News

डीएमके सरकार ने तमिलनाडु में पहली बार कृषि के लिए अलग बजट पेश किया

बजट पेश करते हुए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री एमआरके पन्नीरसेल्वम ने कहा कि किसानों और विशेषज्ञों की राय मांगी गई है और उनके विचारों के आधार पर बजट तैयार किया गया है।

चेन्नई

Published: August 14, 2021 05:36:24 pm

चेन्नई.

अपने चुनावी वादे के अनुरूप डीएमके सरकार ने शनिवार को तमिलनाडु विधानसभा में विशेष रूप से कृषि के लिए एक बजट पेश किया, जिसमें कृषि क्षेत्र के समग्र विकास के लिए योजनाएं शामिल हैं, जिसमें गांवों में आत्मनिर्भरता और कृषि विकास के लिए एक योजना शामिल है।

DMK govt presents exclusive farm budget, first in Tamilnadu
DMK govt presents exclusive farm budget, first in Tamilnadu

बजट पेश करते हुए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री एमआरके पन्नीरसेल्वम ने कहा कि किसानों और विशेषज्ञों की राय मांगी गई है और उनके विचारों के आधार पर बजट तैयार किया गया है। कृषि बजट किसानों की आकांक्षा है। यह प्रकृति प्रेमियों का सपना है। तमिलनाडु में पहली बार कृषि के लिए अलग बजट पेश किया गया है।

2021-2022 के दौरान कृषि और संबंधित विभागों जैसे पशुपालन, मत्स्य पालन, डेयरी विकास, के लिए 34,220.65 करोड़ रुपए प्रदान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि कृषि पंप सेटों को मुफ्त बिजली उपलब्ध कराने के लिए राज्य द्वारा संचालित बिजली इकाई, तमिलनाडु उत्पादन और वितरण निगम को 4,508.23 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की गई है।

उन्होंने कहा कि कावेरी डेल्टा क्षेत्र में किसानों और खेत मजदूरों की समृद्धि लाने के लिए कृषि आधारित उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए इस क्षेत्र को कृषि औद्योगिक गलियारा घोषित करने का प्रस्ताव है। पिछली अन्नाद्रमुक सरकार ने कावेरी डेल्टा क्षेत्र को संरक्षित कृषि क्षेत्र घोषित किया था।

मंत्री ने कहा कि तंजावुर जैसे क्षेत्रों में साल भर चावल, दालें, केला, नारियल का उत्पादन होता है। उन्होंने कहा कि यदि चावल और तेल मिलों, कॉयर इकाइयों और दलहन प्रसंस्करण इकाइयों (जो इस क्षेत्र के कृषि उत्पादों का उपयोग मूल्य वर्धित उत्पादों का उत्पादन करने के लिए करते हैं) को बढ़ावा दिया जाता है, तो यह डेल्टा क्षेत्र के किसानों और कृषि श्रमिकों के कल्याण में बहुत योगदान देगा।

पन्नीरसेल्वम ने कहा कि तमिलनाडु के सभी गांवों में समग्र कृषि विकास और आत्मनिर्भरता सुनिश्चित करने के लिए कुल 1,245.45 करोड़ रुपए के परिव्यय के साथ एक योजना लागू की जाएगी। इस योजना का नाम पूर्व मुख्यमंत्री एम करुणानिधि (कलैगनारिन अनैथु ग्राम ओरंगिनैंथ वेलां वलार्ची थित्तम) के नाम पर रखा गया है। उन्होंने कहा कि चालू वर्ष (2021-22) में 2,500 ग्राम पंचायतों में लागू किया जाएगा। तमिलनाडु में 12,524 ग्राम पंचायतों में से प्रत्येक वर्ष, उनमें से एक-पांचवें की पहचान की जाएगी और यह योजना पांच वर्षों में सभी पंचायत क्षेत्रों में लागू की जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.