एयरपोर्ट पर एमके अझगिरि का स्वागत करने वाला कार्यकर्ता निलंबित

एयरपोर्ट पर एमके अझगिरि का स्वागत करने वाला कार्यकर्ता निलंबित

Ritesh Ranjan | Publish: Sep, 05 2018 12:20:00 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India


-अझगिरी का रैली से पहले डीएमके का सख्त संदेश

चेन्नई. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. एम. करुणानिधि के बड़े बेटे और पूर्व केंद्रीय मंत्री एम.के. अझगिरी अपने छोटे भाई और डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन को सबक सिखाने के लिए बुधवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर मरीना बीच तक रैली निकाल कर अपनी ताकत दिखाएंगे। इससे पहले मंगलवार को ही डीएमके हाईकमान ने संख्त संदेश देते हुए कहा कि अझगिरी का समर्थन करने वालों के लिए डीएमके में कोई जगह नहीं है। इसके साथ ही पार्टी महासचिव के. अन्बझगण ने पार्टी के एक कार्यकर्ता रवि, जिसने चेन्नई हवाईअड्डे पर अझगिरी का स्वागत किया था, को पार्टी से निलंबित कर दिया।
यहां जारी एक विज्ञप्ति में बताया कि पार्टी में तनाव उत्पन्न करने की वजह से रवि को पार्टी से निकाला गया है। पार्टी के एक पदाधिकारी ने बताया कि हाई कमान अझगिरी को वापस पार्टी में नहीं लेना चाहते। वे अध्यक्ष के नेतृत्व में पार्टी में पूरी तरह से अनुशासन चाहते हैं, लेकिन अझगिरी कैंप अभी भी डीएमके में शामिल होने की उम्मीद लेकर बैठे हैं। सूत्रों ने बताया कि आग्रह के बावजूद पार्टी में वापस नहीं लेने की वजह से अझगिरी काफी अपसेट हैं जबकि उन्होंने साफ कर दिया है कि अगर उनको पार्टी में वापस लिया जाता है तो वे स्टालिन का नेतृत्व स्वीकारने को तैयार हैं।
इससे पहले रविवार को अझगिरी ने कहा था कि वे निश्चित तौर पर मरीना बीच स्थित पिता के समाधि तक ५ सितम्बर को रैली निकालेंगे। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि वे करुणानिधि के बेटे हैं और जो बोलते हैं वहीं करते हैं। उल्लेखनीय है गत २५ अगस्त को अझगिरी ने कहा था कि यह रैली डीएमके को धमकी के रूप में होगी। इससे पहले १३ अगस्त को उन्होंने दावा किया था कि करुणानिधि के सच्चे कार्यकर्ता उनके साथ हैं। हालांकि पूर्ण बहुमत के साथ २८ अगस्त को स्टालिन को पार्टी का अध्यक्ष चुना गया।
-------------

Ad Block is Banned