अंतिम दर्शन कल फिर करनी होगी 40 वर्ष की प्रतीक्षा

अंतिम दर्शन कल फिर करनी होगी 40 वर्ष की प्रतीक्षा

P.S.Vijayaraghavan | Publish: Aug, 15 2019 05:57:34 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

athvardar darshan to conclude tomorrow

- 17 अगस्त को सरोवर के भीतर करेंगे प्रवेश

 

 

 

कांचीपुरम. अत्तिवरदर प्रकाट्य उत्सव का अवरोहण बस एक दिन दूर है। सोलह को अत्तिवरदर के अंतिम दर्शन होंगे। फिर श्रद्धालुओं को चालीस वर्ष की प्रतीक्षा करनी होगी। सत्रह अगस्त उनके लिए भावुक क्षण होगा जब भगवान उनसे चार दशक के लिए विदा लेंगे। भगवान की अतिप्राचीन मूर्ति को वरदराज स्वामी मंदिर के अनंत सरोवर के नीचे बने मंडप में चालीस साल के लिए प्रतिष्ठित कर दिया जाएगा। अब तक देश- विदेश से लगभग 90 लाख भक्त उनके दर्शन कर चुके हैं।

सपरिवार पहुंच रहे लोग

चेन्नई से ही नहीं आस-पड़ोस के राज्यों से भी बड़ी संख्या में लोगों का 45 वें दिन भी पहुँचना जारी रहा। ट्रेन और बस में लोगों को बैठने की जगह नहीं मिली जबकि अमूमन दोपहर के वक़्त इनमें नाम मात्र की सवारियां होती हैं। भक्तों में हाथ का बच्चा था जिसे मां-पिता भीषण गरमी में नंगे पांव उठाए थे तो कुछ श्रवण की याद दिला गए जो अपने माता-पिता को तिपहिया साइकल में बिठा भारी भीड़ में आगे बढ़े।

कैसे टालें दर्शन

सत्तर साल की वृद्धा पचैअम्माल का कहना था कि अगर अत्तिवरदर के दर्शन हर दस साल में भी होते तो भी धैर्य धरा जा सकता था लेकिन यहां तो चालीस साल की बात है। ऐसे में यह मौका वे नहीं खो सकतीं। पचैअम्माल की तरह कुमार, सुब्रमण्यम, वैदेही, चित्रा व कुमरवेल ने भी कुछ ऐसे ही विचार रखे जिनकी उम्र ४० से पचास के बीच की थी।

athivardar

 

प्रशासनिक तैयारी

जिला प्रशासन और हिन्दू धर्म व देवस्थान विभाग मंदिर के पुजारियों के साथ भगवान अत्तिवरदर के अनंत सरोवर के तल में समाने के अवसर की तैयारी में जुटा हुई दिखाई दिया। निजी कंपनी के कर्मचारी सरोवर के मंडप के नीचे खुदाई कर उसे अंतिम रूप देने में लगे हैं। जिला कलक्टर पोनय्या के अनुसार १६ अगस्त की रात तक भक्तों को प्रवेश दिया जाएगा। उसके बाद प्रवेश रोक दिया जाएगा लेकिन जो भी श्रद्धालु निर्धारित समय तक कतार में लग जाता है उसे १७ को भी दर्शन कराए जाएंगे। फिर आगम परिपाटी के तहत भगवान को जिस तरह सरोवर से निकाला गया था उसी तरह पुन: प्रतिष्ठित कर दिया जाएगा। इस मौके पर पुजारियों के अलावा किसी को भी अनुमति नहीं दी जाएगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned