कोयम्बत्तूर में जब्त हुई राजस्थान के प्रवासियों को लेकर आ रही बस

दो दिनों में कोयम्बत्तूर चेक पोस्ट में 79 वाहन नियमों का उल्लंघन करने के मामले में जब्त हुए है।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 24 Jun 2020, 03:50 PM IST

कोयम्बत्तूर.

राजस्थान के विभिन्न इलाकों से 25 श्रमिकों को लेकर आ रही ओमनीबस को तमिलनाडु के कोयम्बत्तूर में लॉकडाउन का उल्लंघन करने और फर्जी ई-पास का इस्तेमाल करने के आरोप में जब्त किया गया है। पुलिस ने बताया कि जब ई-पास के क्यूआर कोड को स्कैन किया गया, तो पता चला कि यह ई-पास कार के लिए जारी किया गया था और फर्जी तरीके से कुछ श्रमिक तमिलनाडु आए थे।

पिछले दो दिनों में कोयम्बत्तूर चेक पोस्ट में 79 वाहन नियमों का उल्लंघन करने के मामले में जब्त हुए है। इन वाहनों को बिना ई-पास और फर्जी ई-पास के वजह से जब्त किया गया है। बस चालक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उसपर आरोप है कि उसने बिना ई पास के प्रवासी श्रमिकों को ले जा रहा था।

उन्होंने बताया कि कुछ श्रमिकों ने कहा कि वे कोयम्बत्तूर और ईरोड जिले के पेरुनदुरै में काम करते हैं और यहां काम की तलाश में आए थे। पुलिस ने बताया कि सभी श्रमिकों और पांच चालकों का कोविड-19 जांच की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सभी श्रमिकों के नमूने ले लिए हैं और उन्हें पृथकवास नियम के तहत जांच चौकी के पास ही एक विवाह घर में ठहराया गया है।

पुलिस ने कहा कि ईरोड जाने वाली ओमनी बस चालक द्वारा रास्ता भटकने के बाद कोयम्बत्तूर जिले में प्रवेश किया। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि बस मंगलवार सुबह करीब 6.30 बजे करुथामट्टी चेक पोस्ट पर पहुंची। 30 लोगों में से पांच ड्राइवर थे। चेक पोस्ट पर पुलिस टीम ने ई-पास के क्यूआर कोड को स्कैन किया तो पता लगा कि ई-पास फर्जी था। उन्होंने वातानुकूलित स्लीपर बस को जब्त कर लिया। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि राजस्थान के प्रवासी मजदूर इरोड जिले के पेरुंदुरै में एक मोल्डिंग इकाई में काम कर रहे थे। बस चालक रास्ता भटक गया और जिले में प्रवेश किया।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned