सडक़ पर छह घंटे पड़ा रहा बुजुर्ग का शव, न एम्बुलेंस आई, न इलाज मिल सका

- इंसानियत फिर हुई शर्मसार

By: PURUSHOTTAM REDDY

Updated: 03 Jul 2020, 09:46 PM IST

चेन्नई.

चेन्नई के कोरुक्कपेट इलाके में एक 60 साल के बुजुर्ग को वक्त पर इलाज नहीं मिला। उन्होंने सडक़ पर ही दम तोड़ दिया। घटना शुक्रवार सुबह कोरुक्कपेट इलाके में हुई। दरअसल, बुजुर्ग छह घंटों तक सडक़ पर पडें रहें, और सडक़ पर ही उनकी मौत हो गई है। लेकिन उन्हें न तो समय पर एम्बुलेंस मिली और न इलाज। हालांकि मृतक की पहचान नहीं हो पाई है।

जानकारी के अनुसार बुजुर्ग शुक्रवार सुबह 11 बजे कोरुक्कपेट हाई रोड पर एक टिफिन सेंटर में नाश्ता करने आए थे। नाश्ता करने के बाद वे वापस लौट रहे थे, अचानक वे सडक़ पर गिर गए। आसपास के दुकानदार और राहगीरों ने उन्हें आवाज लगाकर उठाने की कोशिश की लेकिन वे नहीं उठें। कोरोना संक्रमण के डर से कोई उन्हें हाथ नहीं लगा रहा था।

राहगीरों ने तुरंत पुलिस और एम्बुलेंस को सूचित किया लेकिन एम्बुेलंस शाम पांच बजे आई। जब लोगों ने एम्बुलेंस चालक से पूछा तो उसने बताया कि कोरोना मरीजों को अस्पताल पहुंचाने में समय बित गया। आखिरकार शव को स्टेनली सरकारी अस्पातल भेजा गया।

कुछ दिन पहले चेन्नई सेंट्रल के निकट शव घंटों पड़ा रहा। पुलिस और एम्बुलेंस को सूचित किया गया लेकिन एम्बुलेंस नहीं आई। बाद में शव को एक तीन पहिए वाले टेला पर अस्पताल ले जाया गया।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned