कहीं बेटे-बेटी तो कहीं मां व पत्नी को मिला टिकट, प्रवासियों की चुनावी परीक्षा

इलाके में प्रभाव व अच्छी पैठ के चलते हासिल किया टिकट

- कांग्रेस व भाजपा ने प्रवासियों पर जताया भरोसा
- जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्य चुनाव में

- प्रवासियों की चुनावी परीक्षा
-कहीं बेटे-बेटियों तो कहीं मां व पत्नी को मिला टिकट

By: Ashok Rajpurohit

Published: 13 Nov 2020, 04:28 PM IST

चेन्नई. राजस्थान में हो रहे पंचायत राज संस्थाओं के जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्य के चुनाव में इस बार बड़ी संख्या में प्रवासी चुनावी जंग में है। खास बात यह है कि कांग्रेस व भाजपा ने प्रवासियों पर भरोसा जताते हुए मैदान में उतारा है। कहीं प्रवासियों के बेटे-बेटी चुनावी मैदान में हैं तो कहीं मां व पत्नी को टिकट मिला है। तमिलनाडु में राजस्थान मूल के लोग बड़ी संख्या में हैं। सबसे अधिक संख्या जालोर जिले के प्रवासियों की है। यही वजह है कि जालोर जिला परिषद की 31 सीटों में से कांग्रेस एवं भाजपा दोनों ही दलों ने प्रवासियों पर बड़ा दांव खेला है। कांग्रेस ने चार प्रवासियों को टिकट दिया है तो भाजपा ने एक प्रवासी को उम्मीदवार बनाया है। इसी तरह पाली समेत अन्य जिलों में दोनों राजनीतिक दलों ने इस बार प्रवासियों पर दांव खेला है। दोनों राजनीतिक दलों के प्रवासियों को टिकट देने की सबसे बड़ी वजह प्रवासियों का इलाके में प्रभाव व अच्छी पैठ होना बताया जा रहा है। यही वजह रही कि बरसों से पार्टी के काम करने वाले कार्यकर्ताओं की बजाय पार्टियों ने प्रवासियों पर भरोसा जताया है। चुनाव चार चरणों 23 व 27 नवम्बर तथा 1 एवं 5 दिसम्बर को होंगे। जिला परिषद सदस्य के लिए 1.50 लाख रुपए तथा पंचायत समिति सदस्य के लिए 75 हजार रुपए चुनाव खर्च सीमा तय की गई है।
जालोर जिला परिषद सदस्य के लिए प्रवासी बड़ी संख्या में
तमिलनाडु में प्रवास कर रहे राजस्थान मूल के कई लोगों को इस बार राजस्थान में हो रहे पंचायती राज के जिला परिषद सदस्य व पंचायत समिति सदस्य के लिए राजनैतिक दलों ने टिकट दिए हैं। इनमें कांग्रेस एवं भाजपा ने प्रवासियों पर भरोसा जताया है। जालोर जिला परिषद में 31 सीटें हैं और कांग्रेस ने चार तथा भाजपा ने दो प्रवासियों को टिकट दिए हैं। जालोर जिला परिषद के वार्ड संख्या 2 से चेन्नई प्रवासी संजय जांगू विश्नोई की माता रामूदेवी कांग्रेस के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं। जालोर जिला परिषद के वार्ड 6 से प्रवीण विश्नोई कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। प्रवीण विश्नोई का तमिलनाडु के कोयम्बत्तूर में व्यवसाय है। जालोर जिला परिषद के वार्ड 10 से चेन्नई प्रवासी पेंपसिंह राठौड़ की धर्मपत्नी बबीता कंवर कांग्रेस के टिकट पर चुनावी जंग में है। जालोर जिला परिषद के वार्ड संख्या 14 से चेन्नई प्रवासी पूर्व सरपंच निम्बाराम चौधरी पटेल के पुत्र गोपाल चौधरी भाजपा के टिकट पर मैदान में है। जालोर जिला परिषद के वार्ड संख्या 25 से चेन्नई प्रवासी समाजसेवी शिवनाथसिंह राजपुरोहित की धर्मपत्नी सुकीदेवी राजपुरोहित भाजपा के टिकट पर चुनावी जंग में है। जालोर जिला परिषद के वार्ड संख्या 26 से चेन्नई प्रवासी रतनसिंह चौहान कांग्रेस उम्मीदवार है।
पूर्व जिला प्रमुख की बेटी मैदान में
इसी तरह पाली जिला परिषद सदस्य के रूप में तमिलनाडु के महाबलीपुरम प्रवासी एवं पाली के पूर्व जिला प्रमुख पेमाराम सीरवी की बेटी नंदिनी सीरवी पाली जिला परिषद के वार्ड संख्या 7 से भाजपा के टिकट पर चुनावी मैदान में हैं। इसके साथ ही कई प्रवासी इस बार निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में ताल ठोक रहे हैं। विभिन्न पंचायत समितियों में सदस्य के रूप में प्रवासियों को कांग्रेस व भाजपा ने उम्मीदवार बनाया है।


....................................

नंदिनी सीरवी
पाली जिला परिषद सदस्य- वार्ड-7
उम्मीदवार- नंदिनी सीरवी
कौन- महाबलीपुरम प्रवासी पूर्व जिला प्रमुख पेमाराम सीरवी की बेटी
पार्टी- भाजपा
परिचयः पेमाराम सीरवी पाली जिले के रहने वाले हैं तथा लम्बे समय से तमिलनाडु के महाबलीपुरम में व्यवसाय कर रहे हैं। वे पिछले कार्यकाल में पाली जिला प्रमुख रहे हैं। राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खासे नजदीकी माने जाते हैं। पाली जिला प्रमुख रहते क्षेत्र में विकास के काफी कार्य करवाए हैं। इस बार पाली जिला परिषद के वार्ड संख्या 7 से उनकी बेटी नंदिनी सीरवी को भाजपा प्रत्याशी बनाया गया है।
.........................

रामूदेवी विश्नोई
जालोर जिला परिषद सदस्य- वार्ड संख्या-2
उम्मीदवार- रामूदेवी विश्नोई
कौन - चेन्नई प्रवासी संजय जांगू विश्नोई की माता
पार्टी- कांग्रेस
परिचयः संजय जांगू विश्नोई का चेन्नई में व्यवसाय है। वे लम्बे समय से कांग्रेस से जुड़े हुए हैं। कांग्रेस ने इस बार जालोर जिला परिषद सदस्य के लिए वार्ड संख्या 2 से संजय विश्नोई की माता रामूदेवी विश्नोई को उम्मीदवार बनाया है। संजय जांगू जालोर जिले के चितलवाना के रहने वाले हैं।
.............................


प्रवीण विश्नोई
जालोर जिला परिषद सदस्य- वार्ड संख्या-6
उम्मीदवार- प्रवीण विश्नोई, कोयम्बत्तुर प्रवासी
पार्टी- कांग्रेस
परिचयः प्रवीण विश्नोई कांग्रेस के सक्रिय कार्यकर्ता रहे हैं। उनका तमिलनाडु के कोयम्बत्तूर में व्यवसाय है। सामाजिक कार्य में सदैव अग्रणी रहे है। इस बार कांग्रेस ने प्रवीण विश्नोई को जालोर जिला परिषद के वार्ड संख्या 6 से प्रत्याशी बनाया है। प्रवीण विश्नोई जालोर जिले के सरणाऊ के रहने वाले हैं। वे लम्बे समय से यूथ कांग्रेस से जुड़े हुए हैं।
...........................


बबीता कंवर
जालोर जिला परिषद सदस्य- वार्ड संख्या-10
उम्मीदवार- बबीता कंवर
कौन- चेन्नई प्रवासी पेंपसिंह राठौड की धर्मपत्नी
पार्टी- कांग्रेस
परिचयः पेंपसिहं राठौड़ का चेन्नई में व्यवसाय है। चेन्नई में विभिन्न सामाजिक कार्य में आगे रहे हैं। इस बार कांग्रेस ने जालोर जिला परिषद के वार्ड 10 से पेंपसिंह राठौड़ की धर्मपत्नी बबीता कंवर को कांग्रेस का उम्मीदवार बनाया गया है। पेंपसिहं राठौड़ यूथ कांग्रेस से जुड़े हुए हैं।
...........................

गोपाल चौधरी
जालोर जिला परिषद सदस्य -वार्ड संख्या-14
उम्मीदवार - गोपाल चौधरी पटेल
कौन- चेन्नई प्रवासी निम्बाराम चौधरी के पुत्र
पार्टी- भाजपा
परिचयः निम्बाराम चौधरी लम्बे समय से चेन्नई में व्यवसाय कर रहे है। पिछले कार्यकाल में जालोर जिले के गोदन ग्राम पंचायत के सरपंच रह चुके हैं। वर्तमान में निम्बाराम चौधरी की धर्मपत्नी मुलकीदेवी चौधरी सरपंच है। इस बार भाजपा ने जालोर जिला परिषद के सदस्य के लिए वार्ड 14 से निम्बाराम चौधरी के बेटे गोपाल चौधरी को उम्मीदवार बनाया है। गोपाल चौधरी केवल 23 वर्ष के है।
..........................


सुकीदेवी राजपुरोहित
जालोर जिला परिषद सदस्य- वार्ड संख्या-25
उम्मीदवार- सुकीदेवी राजपुरोहित
कौन- चेन्नई प्रवासी शिवनाथसिंह राजपुरोहित की धर्मपत्नी
पार्टी- भाजपा
परिचयः शिवनाथसिंह राजपुरोहित सामाजिक कार्य में सदैव अग्रणी रहे हैं। चेन्नई में रामदेव मंडल के अध्यक्ष रह चुके हैं। विभिन्न संस्थाओं से जुड़े हुए हैं। कोरोना काल में उनकी सेवाएं सराहनीय रही थी और उपखंड अधिकारी की ओर से विशेष सम्मान किया गया था। जालोर जिले के बासड़ाधनजी निवासी शिवनाथसिंह राजपुरोहित की धर्मपत्नी सुकीदेवी राजपुरोहित को इस बार जालोर जिला परिषद के वार्ड संख्या 25 से भाजपा उम्मीदवार बनाया गया है।
.......................

रतनसिंह चौहान
जालोर जिला परिषद सदस्य- वार्ड संख्या-26
उम्मीदवार- रतनसिंह चौहान राजपूत, चेन्नई प्रवासी
पार्टी- कांग्रेस
परिचयः रतनसिंह चौहान राजपूत का चेन्नई में व्यवसाय है। लम्बे समय से कांग्रेस से जुड़े हुए हैं। चेन्नई में कांग्रेस की रैली में प्रमुख भूमिका निभा चुके हैं। जालोर जिले के नून निवासी रतनसिंह चौहान राजपूत को इस बार जालोर जिला परिषद के सदस्य के लिए वार्ड संख्या 26 से उम्मीदवार बनाया गया है।
...................

Show More
Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned