पूरे देश में हो समान पाठ्यक्रम

- उच्च न्यायालय का सुझाव

By: Ritesh Ranjan

Published: 03 Jan 2019, 02:33 PM IST

चेन्नई. मद्रास उच्च न्यायालय का विचार है कि पूरे देश में समान शैक्षणिक पाठ्यक्रम लागू करने की जरूर है। विद्यार्थियों की मन:स्थिति का अवलोकन करते हुए कोर्ट द्वारा गठित एक्सपर्ट कमेटी के सुझावों पर समान सिलेबस तैयार किया जा सकता है।
न्यायाधीश एस. विमला और जज टी. कृष्णवल्ली ने यह सुझाव देते हुए कहा कि सरकार इस बारे में सोचे और परामर्श को लागू करने का प्रयास करे।
न्यायिक पीठ के अनुसार एक केंद्रीकृत डिजीटल डेटाबेस की व्यवस्था होनी चाहिए जिसमें ऑनलाइन पाठ्यसामग्री हो तथा सरकारी व निजी क्षेत्रों में उपलब्ध रोजगार का विवरण हो।

-------------------------------------------
माइल्स ने जरूरतमंदों को कराया भोजन
चेन्नई. महावीर इंटरनेशनल लेडीज एमिनेंट सर्विस टू सोसायटी (माइल्स) चेन्नई की ओर से नए साल के उपलक्ष्य में बुधवार को जरूरतमंदों को भोजन करवाया गया। मंगलचंद, मनोज, ममता, मनथ राखेचा एवं माणकचंद, राजेश-सरिता बालेचा के सहयोग से संस्था की पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने पुरुषवाक्कम स्थित डाउटन कैफे होटल में 100 जरूरतमंदों को खाना खिलाया। इस कार्य में इंद्रा सोलंकी, इंद्रा बोथरा, शिल्पा बम्ब, प्रमिला जैन, संतोष मेहता, सरला सिसोदिया, उषा कोठारी, ललिता गुलेच्छा, ललिता छाजेड़, कविता चोपड़ा आदि का विशेष सहयोग रहा।

Ritesh Ranjan Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned