फर्जी आयकर अधिकारी पुलिस को चकमा देकर हुआ फरार

मछुआरे का शव मिला, स्थानीय निवासियों ने किया प्रदर्शन

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 10 Feb 2018, 07:46 PM IST

चेन्नई.

महानगर पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है। पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता की भतीजी दीपा जयकुमार के टी. नगर स्थित घर पर फर्जी आयकर अधिकारी बनकर आया युवक पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया और पुलिस मीडियाकर्मियों को दीपा जयकुमार के घर से हटाने में व्यस्त थी। फर्जी आयकर अधिकारी की तलाश जारी है।


सूत्रों के अनुसार शनिवार सुबह करीब सात बजे ३६ वर्षीय व्यक्ति टी. नगर के शिवज्ञानम स्ट्रीट स्थित दीपा के घर आया। उस वक्त दीपा बाहर गई थी। दीपा के पति माधवन घर में थे।

युवक ने खुद को मितेश कुमार बताते हुए कहा कि वह आयकर विभाग में सहायक आयुक्त है और उसे दीपा के घर की तलाशी लेनी है। माधवन ने मिथेश का आईडी कार्ड देखा और सर्च वारंट देखने के बाद उसे घर के अंदर बुलाया और बैठाया। माधवन ने दीपा के वकील को सूचित किया।

वह तुरंत दीपा के घर पहुंचा। वकील ने मिथेश से पूछताछ की और उनके दूसरे साथियों के बारे में पूछा। इसपर मिथेश ने बताया कि सभी अधिकारी दस बजे तक पहुंचेंगे। उनके आने के पहले उसे मौका मुआयना करने भेजा गया है।

माधवन और दीपा के वकील को संदेह हुआ और उन्होंने पुलिस को सूचित कर दिया। सूचना मिलते ही माम्बलम सहायक पुलिस आयुक्त, पुलिस निरीक्षक सहित १० पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और मिथेश से पूछताछ की।

खबर मिलते ही मीडिया दीपा के घर पहुंच गई जहां शोर शराबा होने लगा। मीडियाकर्मियों को संभालने के लिए पुलिसकर्मी बाहर निकल गए। इसी दौरान मिथेश मौका पाकर पीछे के रास्ते से भाग गया। पुलिस मिथेश की तलाश कर रही है।

मछुआरे का शव मिला, स्थानीय निवासियों ने किया प्रदर्शन
चेन्नई.

काशीमेडु में मछली पकडऩे के दौरान कथित तौर पर कुछ पुलिसकर्मियों की लापरवाही की वजह से ४० वर्षीय मछुआरा समुद्र में गिरकर डूब गया। शनिवार सुबह उसका शव मिला।

पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग करते हुए मृतक के रिश्तेदार और स्थानीय निवासियों ने प्रदर्शन किया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि काशीमेडु के टीडी कॉलोनी निवासी तमिलअरसु (४०) शुक्रवार रात को अपने साथियों के साथ मछली पकडऩे गया था।

तमिलअरसु और उसके साथी गोदी पर बैठकर मछली पकड़ रहे थे। वहां इन लोगों को एकसाथ देखकर गश्ती पुलिस को संदेह हुआ और वे उन्हें पकडऩे आए। पुलिस को अपनी ओर आते देख सभी मछुआरे खड़े हो गए।

इसी दौरान तमिलअरसु पानी में गिर गया और डूब गया। शनिवार सुबह उसका शव पानी से बाहर आ गया। तमिलअरसु के परिजन और मछुआरा समुदाय के लोगों ने पुलिसकर्मियों पर आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया और जाम कर दिया।

सूचना पाकर आला अधिकारी मौके पर पहुुंचे और पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करने का आश्वासन देकर उन्हें समझाकर वापस भेज दिया।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned