डीएमके, कांग्रेस समेत अन्य सहयोगी दल कृषि बिल के विरोध में उतरे

डीएमके, कांग्रेस समेत अन्य सहयोगी दल कृषि बिल के विरोध में उतरे

By: Ashok Rajpurohit

Published: 30 Nov 2020, 08:06 PM IST

चेन्नई. तमिलनाडु में डीएमके, कांग्रेस व सहयोगी दल कृषि बिल के विरोध में उतर आए हैं। इन दलों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से किसानों की न्यायोचित मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार के लिए कहा है। उन्होंने किसानों से मुलाकात करनें एवं प्रदर्शन के लिए अन्य स्थल देने के लिए कहा है।
इन नेताओं ने एक संयुक्त बयान में कहा कि केन्द्र ने किसानों के साथ अन्याय किया है। देशभर के विभिन्न राज्यों से आए किसान दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे कई मार्ग बाधित हो चुके हैं। इसके साथ ही नए बिजली अधिनियम में भी कई खामियां हैं। भाजपा सरकार किसानों के साछ छलावा कर रही है। डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन, टीएनसीसी अध्यक्ष केएस अलगिरि, एमडीएमके महासचिव वाइको, सीपीएम राज्य सचिव के. बालकृष्णन, सीपीआई स्टेट सचिव आर. मुत्थरासन एवं वीसीके अध्यक्ष तौल तिरुमावलवन ने संयुक्त बयान जारी किया।

किसानों की समस्याओं पर हो विचार
बयान में कहा कि भाजपा के नक्शेकदम पर ही एआईएडीएमके चल रही है। वे किसानों का गला घोंटने में लगी है। हैदराबाद निगम चुनाव में भी किसानों की समस्या का कोई मुद्दा नहीं उठाया। इन नेताओं नेकहा कि मोदी को जल्द बिल को वापस लेना चाहिए तथा किसानों की सभी मांगों को मान लेना चाहिए। इन्हें जंतर-मंतर पर प्रदर्शन की अनुमति दी जानी चाहिए।

modi
Show More
Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned