Tamilnadu: फास्टैग नहीं तो लम्बी लाइन में करना होगा इंतजार

एक दिसम्बर से टोल पर सिर्फ एक कैश लेन होगी, फ़ास्टैग (Fastag) लेन से गुजरे तो दुगुनी राशि देनी होगी

चेन्नई. केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने आगामी 1 दिसम्बर से राष्ट्रीय राजमार्गों से गुजरने वाले वाहनों के लिए फास्टैग अनिवार्य कर दिया है। टोल प्लाजा पर वाहनों की लम्बी कतारें लगने एवं टोल शुल्क जमा करवाने में लगने वाले अधिक समय से वाहन चालकों को निजात दिलाने के लिए यह कदम उठाया गया है। मंत्रालय ने इस सूचना को भारत सरकार के गैजेट में भी प्रकाशित किया है।
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की परियोजना कार्यान्वयन इकाई चेन्नई के परियोजना निदेशक एवं महाप्रबंधक (तकनीकी) लोकेशसिंह राजपुरोहित ने बताया कि एक दिसम्बर से राष्ट्रीय राजमार्गों के सभी टोल प्लाजा पर सिर्फ एक लेन ही टोल शुल्क की कैश वसूली के लिए अधिकृत होगी। बाकी सभी लैन फास्टैग लगे वाहनों के लिए अधिकृत होगी। ऐसे में जरूरी है कि आप भी समय रहते अपनी गाड़ी में फास्टैग लगा लें। हाईवे अथॉरिटी 20 नवम्बर तक सभी टोल प्लाजा पर सभी लेनों में फास्टैग लेन लागू कर देगी। नेशनल हाईवे अथॉरिटी की ओर से सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग के प्रचार के लिए बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग उपलब्ध करवाने की व्यवस्था की गई है।
फास्टैग लगे वाहनों को नहीं होगी रुकने की जरूरत
राजपुरोहित ने बताया कि फास्टैग लगी गाडिय़ों को टोल प्लाजा पर नकद लेनदेन के लिए रुकने की आवश्यकता नहीं होगी जिससे ईंधन एवं समय दोनों की बचत होगी। परियोजना कार्यान्वयन इकाई चेन्नई के कुल छह टोल प्लाजा है। वनग्राम-आठ लेन, सुपरपट्टू -12 लेन, चेन्नई बाईपास प्रोजेक्ट, मादुर-12 लेन, एन्नोर-चेन्नई पोर्ट, नेल्लोर-14 लेन, चेन्नई-टाडा, राष्ट्रीय राजमार्ग-5, पट्टराई पेरम्बुदूर-6 लेन एवं एसवीपुरम-12 लेन, चेन्नई-तिरुपति, राष्ट्रीय राजमार्ग-205 में फास्टैंग के लिए सभी आवश्यक व्यवस्था कर दी गई है।
क्या हैं फास्टैग
फास्टैग रेडियो फ्रीक्वेन्सी आइडेटी फ्रीक्वेन्सी टेक्नोलॉजी पर आधारित एक टैग है। यह गाड़ी की विंड स्क्रीन के मध्य में ऊपर की तरफ लगाया जाता है। टोल प्लाजा पर लगी आरएफआईडी स्कैनर डिवाइस टैग को रीड कर टोल राशि काट लेती है। और टोल गेट खुद-ब-खुद खुल जाता है। टोल बूथ से गुजरते समय रुककर टोल देने व रसीद लेने की कोई आवश्यकता नहीं होती। यूजर के टैग खाते से होने वाले सभी ट्रांजेक्शन की जानकारी उनके रजिस्टर्ड मोबाइल पर एसएमएस से यूजर को मिल जाती है।
ऐसे मिलेगा फास्टैग
टोल प्लाजा, चुनिंदा बैंक, रिटेल पीओएस लोकेशन, जारीकर्ता बैंक की वेबसाइट यानी पेटीएम, आईसीआईसीआई, एसबीआई, एचडीएफसी, एयरटेल आदि, माई फास्टैग ऐप, ई-कामर्स साइट अमेजन पर उपलब्ध होगा।
जरूरी दस्तावेज
गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, गाड़ी मालिक का आईडी कार्ड एवं एड्रेस प्रूफ, गाड़ी मालिक का पासपोर्ट साइज फोटो, आईडी प्रूफ की फोटोकापी के साथ मूल कॉपी भी दिखानी होगी।
ढाई फीसदी तक कैशबैक ऑफर
अच्छी खबर यह है कि केन्द्र सरकार ने फास्टैग को बढ़ावा देने के लिए मार्च 2020 तक फास्टैग पर ढाई फीसदी कैशबैक की योजना बनाई है।
हर ट्रांजेक्शन के बाद लिंक्ड बैंक खाते में पैसे सीधे जमा होंगे। फास्टैग टोल को बढ़ावा देने के लिए पहले से ही प्रत्येक टोल प्लाजा पर दोनों तरफ के वाहनों के लिए प्रत्येक तरफ एक लेन को डैडीकैटेड लेन पिछले दो वर्ष से कर दिया गया है। एक दिसम्बर 2017 के बाद सभी नई कारों पर पहले से ही फास्टैग एक्टीवेट है।
चार सौ रुपए में मिलेगा कार्ड
-एक सौ रुपए का होगा फास्टैग कार्ड।
-दो सौ रुपए जमा होंगे कार्ड सिक्योरिटी के लिए।
-सौ रुपए का रिचार्ज उपलब्ध होगा।
-कार्ड में सौ रुपए से लेकर एक लाख तक जमा करवाए जा सकते हैं।
-कार्ड एवं जमा रुपए लाइफटाइम तक जमा रहेंगे।
-कार्ड खराब होने पर सौ रुपए में फिर खरीद सकेंगे।
मासिक पास
मासिक पास के साथ गुजरने वालों को भी फास्टैग लेना होगा। मासिक पास अमांउट डिपाजिट करना होगा। अधिकृत बैंक उस फास्टैैग अकाउंट को मासिक पास की तरह ही अपडेट करेगा।

Show More
Ashok Rajpurohit
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned