बोन मैरो ट्रांसप्लांट से मिली नई जिंदगी

पिता ने बोन मैरो डोनेट किया

By: Santosh Tiwari

Published: 20 Sep 2021, 10:20 PM IST

चेन्नई.

रेला हास्पिटल के चिकित्सकों ने बोन मैरो ट्रांसप्लांट कर दो साल की एक बच्ची को नई जिंदगी दी है। बच्ची आंध्रप्रदेश की रहने वाली है। वह थैलेसीमिया से पीड़ित थी। यह एक दुर्लभ जीवन जोखिम वाला रक्त विकार है। यह शरीर की हेमोग्लोबीन एवं लाल रक्त कोशिका बनाने की क्षमता को प्रभावित करता है। यह समस्या तब से थी जब वह छह महीने की थी। तब से वह नियमित रूप से ब्लड ट्रांसफ्यूजन पर थी। डा.दीनदयालन एवं उनकी टीम ने इस प्रत्यारोपण (बोन मैरो स्टेम सेल) को सफलतापूर्वक पूरा किया। इसके लिए पिता ने बोन मैरो डोनेट किया। इस इलाज में वित्तीय मदद के लिए विभिन्न एनजीओ एवं क्राउडफंडिंग एजेंसी ने परिवार को वित्तीय मदद की।

रेला हास्पिटल के चिकित्सकों ने बोन मैरो ट्रांसप्लांट कर दो साल की एक बच्ची को नई जिंदगी दी है। बच्ची आंध्रप्रदेश की रहने वाली है। वह थैलेसीमिया से पीड़ित थी। यह एक दुर्लभ जीवन जोखिम वाला रक्त विकार है।

Santosh Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned