पुलिस में भेजना चाहते थे पिता

पुलवामा जिले में हुए हमले में तमिलनाडु के दो जवान अरियलूर निवासी शिवचंद्रन और कोविलपट्टी निवासी जी. सुब्रमण्यम भी शहीद हो गए थे।

By: Santosh Tiwari

Updated: 18 Feb 2019, 01:19 PM IST

चेन्नई.पुलवामा जिले में हुए हमले में तमिलनाडु के दो जवान अरियलूर निवासी शिवचंद्रन और कोविलपट्टी निवासी जी. सुब्रमण्यम भी शहीद हो गए थे। आतंकवादी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवान जी. सुब्रमण्यम (28) ने गुरुवार को परिवार से हुई बातचीत में अपने श्रीनगर जाने की बात कही थी। जम्मू से श्रीनगर जाने से पहले सुब्रमण्यम ने अपनी पत्नी से आखिरी बार बात की थी और अपने पिता की आंख में दवा डालने के लिए भी कहा था।
परिवार के मुताबिक, कुछ दिनों पहले ही सुब्रमण्यम के पिता का ऑपरेशन हुआ था जिसके कारण डॉक्टरों ने उन्हें आंख में दवा डालने के निर्देश दिए थे। पिता ने कहा कि वह अपने बेटे को तमिलनाडु पुलिस में भेजना चाहते थे, लेकिन सुब्रमण्यम ने खुद सीआरपीएफ की भर्ती में जाकर यहां नौकरी हासिल कर ली थी।
पुलवामा के हमले के बाद सुब्रमण्यम के पिता वी. गणपति ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा, गुरुवार को उसने अपनी पत्नी कृष्णावेणी से फोन पर बात की। उसने अपनी पत्नी से कहा कि वह श्रीनगर जा रहा है। मेरी आंख के ऑपरेशन की वजह से उसने अपनी पत्नी से मेरी आंखों में दवा डालने के लिए भी कहा। तमिलनाडु में तूतीकोरिन जिले के सबलापेरी गांव में रहने वाले किसान गणपति ने कहा, उससे बात होने के थोड़ी देर बाद हमने उसके फोन पर बात करने की कोशिश की, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला।

-----------------------------------------------------------
-पुलवामा में
शहीद जवानों को ट्रांसजेंडर्स ने दी श्रद्धांजलि

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस घटना के बाद पूरे देश में आक्रोश की लहर दौड़ गई। तमिलनाडु में ट्रांसजेंडर समुदाय की सदस्यों ने चेन्नई में कैंडल जलाकर शहीद सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान ट्रांसजेंडर्स अपने हाथों में तख्तियां लिए हुए थे, जिस पर लिखा था, आतंकवाद बंद करो।

 

Santosh Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned