पांच दिवसीय आवासीय शिविर का समापन

पांच दिवसीय आवासीय शिविर का समापन
Five-Day Residential Camp Completion

Mukesh Kumar Sharma | Updated: 29 May 2019, 11:11:44 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

उपाध्याय प्रवर प्रवीण ऋषि की प्रेरणा से 5-15 उम्र के बच्चों के लिए शुरू की गई धार्मिक ज्ञान एवं सुसंस्कार हेतु ‘बींग अर्हत’ पाठशाला एएमकेएम में व्यवस्थित...

चेन्नई। उपाध्याय प्रवर प्रवीण ऋषि की प्रेरणा से 5-15 उम्र के बच्चों के लिए शुरू की गई धार्मिक ज्ञान एवं सुसंस्कार हेतु ‘बींग अर्हत’ पाठशाला एएमकेएम में व्यवस्थित ढंग से गतिमान है। इसका एक मात्र उद्देश्य जैन समाज की भावी पीढ़ी में जैनिज्म की शिक्षा, उनके सर्वांगीण विकास हेतु विभिन्न कार्यक्रम द्वारा उनका विकास करना है।

इसी के तहत आयोजित पांच दिवसीय आवासीय शिविर का समापन हो गया। समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में अभय श्रीश्रीमाल एवं एएमकेएम के ट्रस्टीगण एवं सभी बच्चों के माता-पिता सम्मिलित हुए।

पांच दिन के शिविर में बच्चों का सुसंस्कार एवं उनके सर्वांगीण विकास की थीम पर सर्वाधिक ध्यान रखा गया। शिविर की सबसे बड़ी विशेषता रही कि सभी बच्चों को अपने माता-पिता से दूर, बिना मोबाइल, बिना टीवी, रहने का सुन्दर अवसर मिला। शिविर के दौरान सुबह 5,45 बजे उठना, प्रार्थना, योग, जैनिज्म एवं विभिन्न विषयों पर क्लासेस एवं विभिन्न तरह के खेल आदि का प्रशिक्षण बच्चों को दिया गया। बच्चों को रचनात्मक कार्य सीखने एवं स्वावलंबी बनने का अवसर मिला। समापन समारोह के दौरान बच्चों के पेरेंट्स के लिए एक घंटे का खास कार्यक्रम रखा गया। इस दौरान काफी बच्चों ने स्टेज पर अपनी प्रस्तुति दी।

बींग अर्हत के चेयरमैन धर्मीचंद सिंघवी इस तरह के शिविरों की आवश्यकता पर विस्तृत जानकारी दी और आगामी शिविरों में भाग लेने का आह्वान किया।इस अवसर पर बींग अर्हत के सभी ऑर्गेनाइजर्स, टीचर्स, एवं कार्यकर्ताओं का सम्मान किया गया। बींग अर्हत की प्रशिक्षक रेशमा ने पांच दिन की रिपोर्ट पेश की।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned