विकलांग विद्यार्थियों को संभालने के लिए पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू

विकलांग विद्यार्थियों को संभालने के लिए पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू

Ashok Singh Rajpurohit | Publish: Sep, 04 2018 07:21:58 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

मद्रास डिस्लेक्सिया एसोसिएशन की पहल

चेन्नई. मद्रास डिस्लेक्सिया एसोसिएशन (एमडीए) के साथ मिलकर तमिलनाडु राज्य शिक्षा विभाग विकलांग बच्चों की सहायता के लिए सरकारी शिक्षकों हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है। सोमवार को शुरू हुए इस कार्यक्रम के पहले सत्र का उद्घाटन स्कूली शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव प्रदीप यादव ने किया। पांच दिनों के इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में अध्यापकों को कक्षा में पढऩे वाले विकलांग विद्यार्थियों को सही तरीके से पढ़ाने एवं संभालने के बारे में विस्तार से बताया जाएगा। पहले सत्र के दौरान वहां लगभग 40 शिक्षक मौजूद रहे। एमडीए पिछले 25 सालों से कई विद्यालयों में इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन करता आ रहा है। इस दौरान एमडीए के संस्थापक एवं अध्यक्ष डी. चंद्रशेखर ने भी इस संबंध में अपने विचार प्रकट किए।

.............................................................

मेहंदी उत्सव पर निकाली कलश यात्रा, 121 महिलाओं ने लिया हिस्सा

 

Five-day training program to handle disabled students

चेन्नई. एमकेबी नगर में श्री राणी शक्ति सत्संग ट्रस्ट के तत्वावधान में मेहंदी उत्सव के मौके पर कलश यात्रा निकाली गई। इस दौरान 121 महिलाएं सिर पर कलश रखकर मंगल गीत गाती चल रही थी वहीं युवा हाथों में झंडे थामे एवं जयकारे लगाते चल रहे थे। कलश यात्रा डॉन बॉस्को स्कूल के पास सुनील धानुका निवास से रवाना होकर विभिन्न मार्गों से होते हुए शक्ति धाम मंदिर पहुंची। मंदिर पहुंचने के बाद मेहंदी उत्सव हुआ। इस दौरान गायकों द्वारा भजन पेश किए गए। उत्सव में एमकेबी नगर समेत महानगर के विभिन्न इलाकों से महिलाएं शामिल हुई।

..........................................

विद्यार्थियों की मनमोहक प्रस्तुति

Five-day training program to handle disabled students

चेन्नई. बी.एस. मूथा गल्र्स स्कूल के केजी के विद्यार्थियों द्वारा जन्माष्टमी का आयोजन किया गया। समारोह के अतिथि विद्यालय प्रबंधन समित के सचिव धर्मीचंद सिंघवी एवं विशिष्ट अतिथि पारष मुणोत थे। कार्यक्रम के दौरान प्रधानाध्यापिका सुधा मालिनी एवं अन्य शिक्षिकाओं की मौजूदगी में विद्यार्थियों ने भगवान श्रीकृष्ण पर आधारित कई कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस दौरान विद्यालय कर्मचारियों के अलावा वहां भारी संख्या में अभिभावक भी मौजूद थे।

Ad Block is Banned