पांच साल गुजरे, समस्याएं जस की तस!

पांच साल गुजरे, समस्याएं जस की तस!
chennai

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Oct, 03 2016 11:34:00 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

भले ही वृहत महानगर निगम ने शहर का कचरा उठाने के लिए अलग कंपनी को ठेका दे दिया हो और उसने अपनी

चेन्नई।भले ही वृहत महानगर निगम ने शहर का कचरा उठाने के लिए अलग कंपनी को ठेका दे दिया हो और उसने अपनी गाडिय़ों एवं कर्मचारियों को इस काम में लगा दिया हो, लेकिन वास्तविकता यह है कि उसके द्वारा लगाए गए कर्मचारी एवं गाडिय़ां पूरे महानगर का कचरा उठाने के लिए नाकाफी हैं। इसी का परिणाम है कि शहर में लगातार कचरा नहीं उठ पाता जिससे सफाई होने के बावजूद चारों ओर कचरे एवं बदबू का वातावरण व्याप्त रहता है।

अब पूलीयानतोप को ले लीजिए जो महानगर निगम कार्यालय से महज तीन किलोमीटर की दूरी पर बसा है वर्षों से निगम के अंतर्गत होने के वाबजूद भी  इसके वार्ड-72 में में रहने वाले लोग बुनियादी सुविधाओं के लिए भी तरस रहे हैं। जर्जरित सड़कें, कचरे से भरे कचरापात्र, पेयजल का अभाव और यातायात जाम तथा बीच सड़क खुले मेनहोल यहां की प्रमुख समस्याएं हैं। पिछली बार हुए कॉर्पोरेशन चुनाव में निर्वाचित प्रत्याशी ने पांच साल में वार्ड को समस्यामुक्त बनाने का वादा किया था। विडम्बना यह है कि पांच साल का समय पूरा होकर फिर चुनाव होने को आ गए लेकिन वार्ड में एक भी समस्या हल नहीं हुई।

वार्ड के वीओसी नगर की प्रथम गली में स्थित अम्मा कैंटीन जिसमें प्रतिदिन सैकड़ों लोगों का आवागमन होता है के पास एक कचरापात्र रखा है जिसमें कैंटीन के अलावा आसपास के लोग भी कचरा डालते हैं, का कचरा तीन दिन तक खाली नहीं होता जिसके कारण यहां इसकी बदबू से लोग परेशान रहते हैं। इसी प्रकार रामासामी स्ट्रीट में भी चारों ओर कचरा पसरा ही रहता है जिसका कारण यहां निगम द्वारा कचरापात्र रखा जाना है। यही कारण है कि लोग जहां जगह मिलती है कचरा डाल देते हैं।

पेयजल का अभाव

इस वार्ड में पेयजल की बहुत कमी है, मेट्रो वाटर और सीवरेज की लाइनें मिल जाने के कारण आपस में पानी मिल गया है, जो किसी भी उपयोग में आने लायक नहीं है। कॉर्पोरेशन में कई बार शिकायत करने के वाबजूद अब तक लाइनों में सुधार नहीं हुआ है। के.करुणाकरण, नारायणसामी स्ट्रीट

मेनहोलों के ढक्कन गायब

इस वार्ड की गलियों में सीमेंट की सड़कें तो बनाई गई हंै लेकिन इन सड़कों के बीच से निकलने वाली सीवरलाइन के मेनहोलों पर ढक्कन अभी तक नहीं लग पाए हैं जिससे खुले पड़े मेनहोल दुर्घटनाओं (खासकर रात को) को आमंत्रण दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि वीओसी नगर में ऐसे ही खुले पड़े मेनहोलों में कई बाइक सवार गिरकर चोटिल हो चुके हैं। मुरुगन, अम्मायल स्ट्रीट

बन रही है ड्रेनेज

वार्ड संख्या 72 में पांच साल में कई सड़कों की मरम्मत हो चुकी है। अम्मा कैंटीन भी है, सैकड़ों लोगों को घर बनाकर दिए गए हैं। ड्रेनेज का निर्माण कार्य चल रहा है। हालांकि इसके निर्माण से सफाईकर्मियों को परेशानी जरूर हुई है, लेकिन उसे भी जल्द ही दुरुस्त कर दिया जाएगा। के.शिवकुमार, काउंसलर, वार्ड 72

विष्णुदेव मंडल
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned