फुटपाथ बने बाइक पार्किंग स्थल

पाथ पर वर्षोँ से अतिक्रमण (encroachment) जमाए लोगों को भी पता है कि यह कानूनी रूप से गलत है। बावजूद इसके वे अपनी आदत (habit) से बाज नहीं आते। नतीजतन राहगीरों को सड़क (road) पर चलने को विवश होना पड़ता है।

चेन्नई. ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन ने महानगर के फुटपाथों की चौड़ाई बढ़ाने और और सुंदरता बढ़ाने के नाम पर करोड़ों की धनराशि खर्च की है। सड़कों के फुटपाथों की माकूल चौड़ाई बढ़ाने के पीछे सरकार की मंशा है कि राहगीरों को आवाजाही में किसी प्रकार की बाधा न हो, लेकिन महानगर की विडम्बना है कि यहां के अमूमन सत्तर प्रतिशत फुटपाथ अतिक्रमण की जद में हैं। कहीं लोगों ने दुकान लगा रखी है तो कहीं पार्किंग, लिहाजा राहगीर फुटपाथ का उपयोग ही नहीं कर पाते। ऐसे ही फुटपाथों में शामिल है एत्तिराज सालै का जहां लोगों ने लोगों की आवाजाही में होने वाली परेशानी को नजरंदाज कर आवाजाही के मार्ग पर हर दिन बुपहिया वाहन पार्क कर निकल जाते हैं। वे इस बात का बिलकुल खयाल नहीं रखते थे कि फुटपाथ के निर्माण का उद्देश्य क्या है। फुटपाथ पर वर्षोँ से अतिक्रमण जमाए लोगों को भी पता है कि यह कानूनी रूप से गलत है। बावजूद इसके वे अपनी आदत से बाज नहीं आते। नतीजतन राहगीरों को सड़क पर चलने को विवश होना पड़ता है।

हाईकोर्ट ने दिया अवैध पार्किंग हटाने का निर्देश
बतादें कि विगत मंगलवार को मद्रास हाईकोर्ट ने ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन को सख्त निर्देश दिया था कि एनएससी बोस रोड पर वाहनों की अवैध पार्किंग को जल्द से हटाया जाए। हालांकि हाईकोर्ट ने यह निर्देश एक ६० वर्षीय महिला वंदना आचार्य की याचिका की सुनवाई के बाद दिया है। निर्देश में इस बात का उल्लेख है कि एनएससी बोस रोड का फुटपाथ का बनाने पर ५० करोड़ से भी अधिक धनराशि खर्च हो जाने के बाद भी यदि इस फुटपाथ को उपयोग राहगीर नहीं कर पाए तो दुर्भाग्यपूर्ण है।

फुटपाथ पार्किंग में तब्दील
बहरहाल एत्तिराज सालै, हैडोस रोड, कॉलेज रोड आदि का फुटपाथ भी पार्किंग में तब्दील हो गया है। इसका परिणाम यह है कि पैदल आवागमन करने वालों को सड़क से गुजरना होता है जो किसी खतरे से कम नहीं होता। अतिक्रमण के कारण फुटपाथ के निर्माण का उद्देश्य ही पूरा नहीं होता।

Dhannalal Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned