scriptFour died for rainfall in 24 hrs in Chennai - Min Ramachandran | पूर्वोत्तर मानसून के मौसम में औसत वर्षा की तुलना में इस वर्ष 44 प्रतिशत से अधिक दर्ह हुई बारिश: मंत्री रामचंद्रन | Patrika News

पूर्वोत्तर मानसून के मौसम में औसत वर्षा की तुलना में इस वर्ष 44 प्रतिशत से अधिक दर्ह हुई बारिश: मंत्री रामचंद्रन

राज्य के राजस्व मंत्री केकेएसएसआर रामचंद्रन ने सोमवार को कहा कि पिछले 24 घंटों की बारिश के कारण चेन्नई,

चेन्नई

Updated: November 08, 2021 05:48:04 pm


चेन्नई. राज्य के राजस्व मंत्री केकेएसएसआर रामचंद्रन ने सोमवार को कहा कि पिछले 24 घंटों की बारिश के कारण चेन्नई, मदुरै और तेनी जिलों में 4 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में तमिलनाडु में 1.५ सीएमएस बारिश दर्ज की गई है, जबकि चेन्नई में 7.९ सीएमएस बारिश दर्ज की गई। पूर्वोत्तर मानसून के मौसम में औसत वर्षा की तुलना में इस वर्ष वर्षा 44 प्रतिशत से अधिक हुई है। भारी बारिश के चलते चार लोगों की मौत के अलावा 16 मवेशियों की मौत हुई है, जबकि 263 झोपड़ी आंशिक और 26 झोपड़ी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए। इसके अलावा 70 घर क्षतिग्रस्त हो गए, जिसमें से 5 घर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हुए।

पूर्वोत्तर मानसून के मौसम में औसत वर्षा की तुलना में इस वर्ष 44 प्रतिशत से अधिक दर्ह हुई बारिश: मंत्री रामचंद्रन
पूर्वोत्तर मानसून के मौसम में औसत वर्षा की तुलना में इस वर्ष 44 प्रतिशत से अधिक दर्ह हुई बारिश: मंत्री रामचंद्रन


-गिरे पेड़ों को हटाया गया
उन्होंने कहा कि शहर में लगातार बारिश हो रही है और चेन्नई में 169 राहत शिविर स्थापित किए गए हैं और प्रत्येक शिविर के लिए अधिकारियों को नियुक्त किया गया है। 48 कैंपों में 889 लोगों को सुरक्षित पहुंचाया गया है और उनमें 1.५ लाख खाने के पैकेट्स वितरित किए गए हैं। शहर के 13 सबवे जलमग्र हो गए और मोटरों की मदद से 10 सबवे से पानी निकाला गया।

इसी प्रकार से जलजमाव वाले 166 स्ट्रीटों में से पंप से पानी निकाला गया और 75 गिरे हुए पेड़ों को हटाया गया। अन्य जिलों में स्थापित हुए राहत कैंपों पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि कांचीपुरम जिले में 128 लोगों को सुरक्षित कैंप में पहुंचाया गया है, जबकि तिरुवन्नमालै जिले में 71 लोगों को दो राहत कैंपों में पहुंचाया गया। इसके अलावा चेंगलपट्टू में 20 परिवारों के 79 लोगों और तिरुवल्लूर जिले में 36 लोगों को कैंप में पहुंचाया गया है।


-एनडीआरएफ की दो कंपनी मदुरै पहुंची
उन्होंने कहा कि एनडीआरएफ की दो कंपनी को मदुरै जिला भेजा गया है, जबकि तिरुवल्लूर और चेंगलपट्टू में एक एक कंपनी भेजी गई है। इसके अलावा कड्लूर और तंजावुर में एसडीआरएफ की दो टीमों को भेजा गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

SC-ST को आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, राज्य तय करें प्रमोशन का पैमानामहाराष्ट्रः सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी के 12 विधायकों का निलंबन असंवैधानिक बताते हुए रद्द कियाBrahMos Missiles: भारत से ब्रह्मोस मिसाइल खरीद रहा फिलीपींस, 37.5 करोड़ डॉलर की डील पर लगी मुहरटाटा की Air India आज से भरेगी उड़ान, इस तरह करेंगे यात्रियों का स्वागतRRB-NTPC: छात्र संगठनों का आज बिहार बंद का ऐलान, महागठबंधन ने भी किया समर्थन, पड़ोसी राज्यों में अलर्टRRB NTPC Student Protest : रेलवे का अलर्ट, यूपी के कई जिलों में चौकसी बढ़ीBrahMos Missiles: भारत से ब्रह्मोस मिसाइल खरीद रहा फिलीपींस, 37.5 करोड़ डॉलर की डील पर लगी मुहरकालीचरण को रिहा करने की मांग को लेकर प्रदर्शन, धर्म संसद के आयोजक व समर्थकों ने दिया धरना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.