scriptglowing Anamalai Tiger Reserve due to New firefly species | तमिलनाडु में बाघों की दहाड वाला जंगल जुगनुओं की रोशनी में नहा रहा | Patrika News

तमिलनाडु में बाघों की दहाड वाला जंगल जुगनुओं की रोशनी में नहा रहा

- यहां रात भी होती है रोशन

चेन्नई

Published: May 11, 2022 05:11:40 pm

चेन्नई @ पुरुषोत्तम रेड्डी

विश्व धरोहर स्थलों में से एक घोषित कोयम्बत्तूर और तिरुपुर जिलों के बीच पहाडिय़ों पर स्थित अन्नामलाई टाइगर रिजर्व रात के समय हजारों लाखों जुगनुओं की रोशनी से जगमगा रहा है। अन्नामलाई टाइगर रिजर्व में जुगनू पेड़ पर बैठकर अपने साथी को आकर्षित करने के लिए टिमटिमाते रहते हैं। इनकी वजह से पेड़ और आसपास का नजारा रौशन रहता है।

glowing Anamalai Tiger Reserve due to New firefly species
glowing Anamalai Tiger Reserve due to New firefly species

लाखों जुगनू की लुभावनी प्राकृतिक घटना लोगों को मनमोहित कर रही है। यहां का नजारा फिल्म अवतार में जेम्स कैमरन के काल्पनिक बायोल्यूमिनसेंट ब्रह्मांड पेंडोरा से मिलते जुलता नजर आता है। ऐसा लगता है कि कि जैसे किसी दूसरी दुनिया में आ गए हैं। हरे पेड़-पौधों के बीच बैठे कई लाख जुगनुओं ने जंगल को रोशन कर दिया है, ये बिलकुल जादुई दुनिया है।

जहां दुनियाभर में जुगनूओं की संख्या घट रही है, अन्नामलाई टाइगर रिजर्व में इस दुर्लभ लुभावनी प्राकृतिक घटना से हमारी आने वाली पीढिय़ों के लिए और अधिक संरक्षण की मांग बढ़ रही है। प्रकृति संरक्षणवादियों के अनुसार, जुगनूओं से जगमग होने का मुख्य कारण अन्नामलाई टाइगर रिजर्व में लंबे समय से चल रहा वन संरक्षण अभियान था।

अप्रैल 2022 में क्षेत्र निदेशक रामसुब्रमण्यम (आईएफएस) के निर्देशन में उप निदेशक एमजी गणेशन सॉफ्टवेयर इंजीनियर श्रीराम मुरली के साथ यह नजारा देखने पहुंचे। श्रीराम मुरली प्रकाश प्रदूषण और जुगनू के विशेषज्ञ भी हैं। वहां का नजारा देखकर वह बोल उठे कि ये विश्व का आठवां आश्चर्य है। करोड़ों जुगनू पूरे जंगल में अपनी चमक बिखेरते दिखाई दिए। रात के समय पूरा जंगल पीले-हरे रंग में चमक रहा था। जुगनू अपना अधिकांश जीवन लार्वा के रूप में बिताते है। वह नरम शरीर वाले कीड़ों को खाते हैं।

वयस्क केवल कुछ हफ्तों तक जीवित रहते हैं और पराग खाते हैं। रात का अंधेरा, वाहनों की आवाजाही से दूर का इलाका इन जुगनुओं को आबादी बढ़ाने के लिए उचित माहौल देता है। जुगनू में प्रकाश अंग होते हैं जो उनके पेट के नीचे स्थित होते हैं। ये ऑक्सीजन लेते हैं जो विशेष कोशिकाओं के अंदर ऑक्सीजन ल्यूसिफरिन नामक पदार्थ के साथ मिलकर प्रकाश उत्पन्न करती है जुगनू का प्रकाश कोई अपशिष्ट नहीं पैदा करता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशानाPunjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमIPL 2022, SRH vs PBKS Live Updates: पंजाब ने हैदराबाद को 5 विकेट से हरायाकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट का रो रहे हैं रोना, यहां जानेंपुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.