Tamilnadu: रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर लगेगा गुंडा एक्ट

- मुख्यमंत्री स्टालिन ने दिए निर्देश

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 15 May 2021, 07:00 PM IST

चेन्नई.

तमिलनाडु में कोरोना के बढ़ते आंकड़ों के बीच जमाखोरी और कालाबाजारी भी बड़ी समस्या बनती जा रही है। ऐसे में तमिलनाडु सरकार ने राज्य में रेमडेसिविर की कालाबाजारी और जमाखोरी करने वालों पर गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने शनिवार को कहा कि तमिलनाडु में कोविड-19 के मरीजों के उपचार में इस्तेमाल होने वाली दवा रेमडेसिविर की जमाखोरी करने वालों और ज्यादा कीमत पर ऑक्सीजन सिलेंडर बेचने वालों के खिलाफ सख्त गुंडा अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस को मुख्यमंत्री की तरफ से यह निर्देश कुछ लोगों द्वारा रेमडेसिविर इंजेक्शन की शीशियों को कथित तौर पर ज्यादा कीमत पर बेचने की खबरों और उनकी गिरफ्तारियों के बाद आया है। एक बयान में स्टालिन ने कहा कि प्रतिबंधों के कारण आजीविका पर असर पडऩे के बावजूद जनता ने लॉकडाउन की "कड़वी गोली" को स्वीकार किया है और जीवन बचाने में सहयोग दिया है, वहीं ऐसे समय में कुछ "असामाजिक तत्व" दवाओं की जमाखोरी कर उसकी कालाबाजारी कर रहे हैं।

स्टालिन कहा कि इसी तरह खबरें मिल रही हैं कि कुछ जगहों पर ऑक्सीजन सिलेंडर ज्यादा कीमतों पर बेचे जा रहे हैं। महामारी के समय ऐसा कृत्य गंभीर अपराध है। मुख्यमंत्री ने बयान में कहा कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की जमाखोरी करने वालों और ऊंची कीमतों पर ऑक्सीजन सिलेंडर बेचने वालों के खिलाफ मैंने पुलिस विभाग को गुंडा अधिनियम के तहत सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned